अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पूर्व मंत्री दिनेश षाड़ंगी का प्रदर्शन,संसदीय कार्यमंत्री ने अनशन समाप्त कराया


रांची:- राज्य संसदीय कार्यमंत्री ने आलमगीर आलम ने विधानसभा के मुख्य द्वार पर आमरण अनशन पर बैठे पूर्व मंत्री दिनेश षाड़ंगी को आश्वासन दिलाकर उनका अनशन तुड़वाया। विधानसभा की कार्यवाही खत्म हो जाने के बाद आलमगीर आलम ने पूर्व मंत्री दिनेश षाड़ंगी से मिलने पहुंचे और उन्हें यह भरोसा दिलाया कि विधायकों तथा पूर्व विधायकों के गंभीर बीमारी चिकित्सा प्रतिपूर्ति राशि में कटौती को वापस लिये जाने के मसले पर सरकार जल्द निर्णय लेगी।
इससे पहले बहरागोड़ा के पूर्व विधायक दिनेश षाड़ंगी प्रदर्शन करते नजर आए।उन्होंने विभिन्न मांगों को लेकर सदन के बाहर धरना दिया। सदन के बाहर धरना पर बैठे पूर्व विधायक दिनेश षाड़ंगी ने धरना देकर सरकार से कई मांगें की हैं। उन्होंने वित्त रहित शिक्षा नीति को झारखंड के माथे पर कलंक बताते हुए उसे समाप्त करने की मांग की और कहा कि अल्पसंख्यक विद्यालयों की तर्ज पर सभी मान्यता प्राप्त विद्यालयों के शिक्षक और शिक्षकेतर कर्मचारियों को वेतन राशि अनुदान के रूप में दी जाए।उन्होंने पूर्व विधायकों की गंभीर बीमारी चिकित्सा की प्रतिपूर्ति राशि में कटौती को अविलंब समाप्त कर पूर्ण राशि के भुगतान की मांग की. चाकुलिया बुड़ामारा रेलवे लाइन के लिए झारखंड में पड़ने वाले 35 किलोमीटर रेलवे लाइन के लिए निशुल्क जमीन स्वीकृत कर केंद्र सरकार को देने की मांग की है।
धरना पर बैठे दिनेश षाड़ंगी ने कहा कि वे जनहित के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं और राज्य सरकार को इस पर गंभीर होने की जरूरत है. पूर्व विधायक के धरना को बीजेपी का भी समर्थन मिला और बाबूलाल मरांडी, अनंत ओझा सहित कई बीजेपी विधायक भी धरना में शामिल हुए. बाद में संसदीय कार्य मंत्री के आश्वासन पर उन्होंने धरना को समाप्त कर दिया है।

%d bloggers like this: