January 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मौसम के अनुकूल किसानों के लिए युगांतकारी निर्णय : जदयू

पटना:- जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने मौसम के अनुकूल कृषि को बिहार के किसानों की बेहतरी एवं उनकी आय वृद्धि की दिशा में लिया गया युगांतकारी निर्णय बताया और कहा कि इससे जलवायु परिवर्तन से हो रही समस्याओं से निजात दिलाने में मदद मिलेगी। जदयू के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने बुधवार को यहां कहा कि मौसम के अनुकूल कृषि किसानों को जलवायु परिवर्तन से हो रही समस्याओं से निजात दिलाने एवं उनकी बेहतरी की दिशा में बिहार सरकार के द्वारा की गई एक पहल है। इस योजना के तहत प्रयास किया जा रहा है कि खेतों में साल के सभी 365 दिन किसान मौसम के अनुसार कोई न कोई फसल जरूर लगा सकें।

इससे उनकी आय अच्छी हो सकेगी। श्री प्रसाद ने कहा कि मौसम के अनुसार कृषि की योजना राज्य के सभी 38 जिलों के किसानों के लिए है। प्रथम चरण में पायलट परियोजना के तौर पर आठ जिलों में इसकी शुरुआत करायी गई थी और शेष 30 जिलों में आज से इसकी शुरुआत कर दी गई है। मौसम के अनुसार कृषि योजना के तहत राज्य में 190 मॉडल गांव तैयार किए जाएंगे। वहां वैज्ञानिक खुद हर मौसम के अनुसार खेती करेंगे। वैज्ञानिक पांच साल तक खुद खेती करेंगे, जिसे बिहार के लाखों किसानों को दिखाया और सिखाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस वैज्ञानिक खेती को बोरलॉग इंस्टिट्यूट ऑफ साउथ एशिया, राजेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय (पूसा), कृषि विश्वविद्यालय (सबौर, भागलपुर) के वैज्ञानिक सफल बनाएंगे। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि ने कहा कि मौसम के अनुकूल कृषि से किसानों की खेती की लागत कम होती है और आमदनी अधिक है। कृषि का यह वैज्ञानिक स्वरूप जल-जीवन-हरियाली अभियान का एक अवयव है। उन्होंने कहा कि किसानों के हित में बिहार में किस तरह से काम किया जाए इसके लिए सरकार चिंतित है। प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल पर जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभावों के निराकरण के लिए ठोस योजना बनी है। हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचाने की योजना बनायी गयी है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सरकार किसानों की उन्नति एवं समृद्धि के लिए संकल्पित है।

Recent Posts

%d bloggers like this: