June 21, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मृत व्यक्ति का शव, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हस्तक्षेप के बाद सिक्किम से बिहार लाया गया

पोठिया(किशनगंज):- पोठिया प्रखंड के डूबानोचि निवासी मृत व्यक्ति के शव को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हस्तक्षेप के बाद सिक्किम से उनके पैतृक निवास बिहार के पोठिया प्रखंड लाया गया। बताते चले कि बिहार के रहने वाले एक मुस्लिम शख्स की सिक्किम में कोरोना से मौत के बाद,वहाँ के प्रोटोकॉल के तहत वहाँ की सरकार शव को परिजनों को सौपना नहीं चाहती थी।
दरअसल,किशनगंज जिले के पोठिया थाना क्षेत्र के डुबानोची आमबाड़ी निवासी 38 वर्षीय नूरुल हक सिक्कीम के गेयजिंग में बतौर ड्राइवर अपना जीवन यापन करते थे।इसी बीच 7 मई 2021 को वे कोरोना की चपेट में आ गए।कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही उन्हें गेयजिंग के एक अस्पताल में भरती कराया गया। स्थिति बिगड़ी तो बेहतर इलाज के लिए 11 मई 2021 को गंगटोक के सुकेतांग STNM अस्पताल में भरती कराया गया,जहाँ नूरुल हक ने 24 मई 2021 को सुबह 3 बजे आखिरी साँस ली।नूरुल हक के बेटे हसनैन के अनुसार उनके पिता की मौत के बाद सिक्किम प्रशासन लाश को परिजनों के सुपुर्द नहीं कर रही थी। सिक्किम प्रशासन के इस रवैये से हसनैन दर दर भटक कर लाश को परिजनों के सुपुर्द करने की गुहार लगाते रहे। हसनैन के अनुसार उन्होंने सिक्किम प्रशासन के कई अधिकारीयों,अस्पताल प्रशासन और जन प्रतिनिधियों से बात की,लेकिन कोई मदद नहीं मिली।आगे उन्होंने बताया कि गंगटोक के एक आला अधिकारी ने जानकारी दी कि अगर बिहार सरकार शव को लेना चाहे तो हम सौंपने को तैयार हैं।
इस बाबत बिहार के किशनगंज अनुमंडल पदाधिकारी ने 24 मई को ही पत्र लिख कर बता दिया था कि बिहार सरकार का ऐसा कोई कानून नहीं है कि लाश बाहर से न लाया जाए।इसीलिए मेरा निवेदन है कि किशनगंज के निवासी नूरुल हक़ के शव को किशनगंज भेजा जाए,परंतु इसके बावजूद परिजनों को शव नही सौंपा गया जिसके बाद 26 मई को इस बात की जानकारी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को हुई,और तब उन्होंने सिक्किम सरकार को एक पत्र लिख कर शव को बिहार भेजने की बात कहीं,जिसके बाद कागजी प्रक्रिया कर शव को गुरुवार को बिहार लाया गया,जहां मुस्लिम रीति रिवाज के साथ मृत व्यक्ति को दफनाया गया,यहां बता दें कि उक्त मृत व्यक्ति किशनगंज जिले के पोठिया थाना क्षेत्र के डुबानोची आमबाड़ी गाँव का निवासी है।

जिसका अंतिम संस्कार कोरोना के सभी गाइड लाइन का पालन करते हुए किया गया। जनाजे में शामिल लोगों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सांसद जावेद आज़ाद तथा विधायक इजहारुल हुसैन को साधुवाद दिया है। मृतक अपने पीछे पत्नी सहित चार पुत्र दो पुत्री छोड़ गए हैं।

संवाददाता चंदन

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: