अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

जमीन कारोबार में वर्चस्व को लेकर राजधानी में हुई थी दिन दहाड़े हत्या, 10 आरोपी गिरफ्तार

रांची:- झारखंड की राजधानी रांची में 14 जुलाई की सुबह करीब सवा 11 बजे डोरंडा थाना क्षेत्र में कार में बैठे अल्ताफ आलम की सरेआम गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। घटना को अंजाम देने के बाद स्कूटी और मोटरसाईकिल सवार अपराधी भागने में सफल रहे थे।
रांची के वरीय पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि अल्ताफ की हत्या जमीन विवाद में वर्चस्व की लड़ाई में हुई थी। दिन दहाड़े पुलिस को चुनौती देने वाली इस घटना को अंजाम दिये जाने पर मामले के उद्भेदन को लेकर एसआईटी का गठन किया गया। इस विशेष टीम ने मौके पर प्रत्यक्षदर्शियों से मिली जानकारी के अनुसार और घटनास्थल के आसपास पर लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।
गिरफ्तार अपराधियों की पहचान राशिद अंसारी उर्फ मारी, साहेब खान उर्फ दादा, मो. चांद उर्फ नाथु, मो. राज उर्फ मो.महताब, निजाद अख्तर उर्फ मुन्ना उर्फ बुलेट, शहबाज करतूस उर्फ सूखा उर्फ चोंच, राशि अंसारी उर्फ फूल, सरफराज कुरैशी उर्फ मुग्गी, मो0 बारिश और सैफ अली खान को अलग-अलग स्थानों से बरामद किया गया। इनके पस से हत्या में प्रयुक्त पिस्तौल, कारतूस, मोटरसाईकिल, स्कूटी और अन्य सामान बरामद किये गये। गिरफ्तार अपराधियों में राशिद अंसारी के खिलाफ पहले भी राजधानी के विभिन्न थाना क्षेत्रों में सात मामले दर्ज है। जबकि मो. चांद उर्फ नाडू और मो0 राज के खिलाफ भी एक-एक मामला पहले से दर्ज है।
गौरतलब है कि 14 जुलाई को पूर्वाह्न साढ़े 11 बजे अल्ताफ अपनी कार से मेन रोड जा रहा था और इस क्रम में वह हिनू पेंटालीन के समीप पहुंचा। तभी बाइक और स्कूटी सवार अपराधियों ने ओवरटेक कर अल्ताफ को रुकवाया और जैसे ही अल्ताफ ने अपनी कार रोकी, अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। अल्ताफ को चार गोली लगी और अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

%d bloggers like this: