अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

चीन सीमा को जोड़ने वाली दारमा घाटी की सड़क 17 दिन बाद भी बंद


नैनीताल:- चीन सीमा से सटे दारमा घाटी को जोड़ने वाला मुख्य सड़क मार्ग आपदा के 17 दिन बीतने के बाद भी बंद पड़ी है। जिससे लोगों को आवाजाही में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उत्तराखंड में 17 से 20 अक्टूबर के मध्य आयी भीषण आपदा में पिथौरागढ़ जनपद की अधिकांश सड़कें क्षतिग्रस्त हो गयी थीं। खासकर चीन सीमा से सटे व्यास, चौदास और दारमा घाटी को जोड़ने वाली सभी सड़कें बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गयी थीं। सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) और केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा इन सड़कों का रखरखाव किया जाता है।
आपदा के बाद युद्धस्तर पर कार्य कर प्रशासन एवं सभी एजेंसियों ने सभी प्रमुख सड़कों को यातायात के लिये सुचारू कर दिया लेकिन दारमा घाटी को जोड़ने वाली मुख्य सड़क मार्ग पिछले तीन हफ्ते से ठप पड़ा है। जिलाधिकारी (डीएम) डॉ. आशीष चौहान ने इस मामले को गंभीरता से लिया और सीपीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को आगामी 10 नवम्बर तक सड़क को खोलने के निर्देश दिये।
सीपीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की ओर से बताया गया कि दारमा घाटी को जोड़ने वाली मुख्य सड़क सेला और नागलिंग के बीच छह किलोमीटर तक पूरी तरह बह गयी है। तीन किमी सड़क का निर्माण हो गया है जबकि शेष तीन किमी पर कार्य जारी है। इसके अलावा डीएम चौहान ने थल-मुनस्यारी मार्ग को भी पूरी तरह से दुरूस्त करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि दुर्घटना होने की स्थिति में संबद्ध एजेंसी के खिलाफ कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

%d bloggers like this: