दरभंगा:- बिहार में दरभंगा जिले बहादुपुर थाने में पदस्थापित दो दारोगा को निलंबित कर दिया गया है।
शराब पार्टी करना महंगा पड़ गया। नशे की हालत में हो-हंगामा करने की गुप्त सूचना मिलते ही वरीय पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार ने त्वरित कार्रवाई के लिए एक टीम गठित कर दी। इसके बाद सदर एसडीपीओ अमित कुमार और ट्रैफिक डीएसपी बिरजू पासवान ने संयुक्त रूप से छापेमारी की। इस दौरान बहादुरपुर थाना परिसर से ही सहायक दारोगा मनोज कुमार राम और उपेंद्र प्रसाद विद्यार्थी को दबोच लिया। नशे में रहने के कारण दोनों सही चल भी नहीं पा रहे थे। पकड़े जाने के दौरान भी दोनों हंगामा करते रहे। इसे देखते हुए ब्रेथ एनालाइजर से दोनों की जांच कराई गई। इसमें उपेंद्र प्रसाद विद्यार्थी का 196 एमजी और मनोज कुमार राम का 176 एमजी प्रतिशत अल्कोहल पीने की पुष्टि हुई। हालांकि, वैधानिक जांच के लिए दोनों को पुलिस अभिरक्षा में मेडिकल जांच के लिए दरभंगा मेडिकल कालेज अस्पताल भी भेजा गया है।
अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (सदर) एसडीपीओ अमित कुमार ने मंगलवार को यहां बताया कि पुलिसकर्मियों के नशा करने और हंगामा होने की सूचना पर छापेमारी की गई। इसमें दोनों को पकड़ा गया है। ब्रेथ एनालाइजर की जांच के बाद अब उनकी मेडिकल जांच भी कराई जा रही है। रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। दोषी पाए जाने पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।
इस बीच पुलिस सूत्रों का कहना है कि आरोपित दोनों दारोगा को देर शाम निलंबित कर दिया गया। अब विभागीय कार्रवाई की जाएगी।
बताया जा रहा कि दोनों दारोगा थाना परिसर स्थित अपने आवास में पहले शराब पार्टी की। इसके बाद दोनों आवास से बाहर आए। इस बीच दोनों दोनों का सामना तीसरे दारोगा से हो गया। इसके बाद दोनों उस दारोगा से देखते ही देखते उलझ गए। बात इतनी बढ़ गई की देखने-दिखाने की बात करने लगे। इधर, हंगामा शांत भी नहीं हुआ कि वरीय पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर छापेमारी करने के लिए टीम पहुंच गई।

Leave a Reply

%d bloggers like this: