April 18, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

खशोगी हत्या में आया क्राउन प्रिंस का नाम, अमेरिका ने सऊदी के 76 नागरिकों पर लगाया बैन

दुबई:- अमेरिका में जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद अमेरिका सऊदी अरब संबंधों के समीकरण बदलने लगे हैं। अमेरिका ने पत्रकार जमाल खशोग्गी की हत्या को लेकर सऊदी अरब के 76 नागरिकों को प्रतिबंधित कर सकता है। ब्लूमबर्ग ने विदेश मंत्रालय के दस्तावेजों के हवाले से शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी। ब्लूमबर्ग ने बताया कि विदेश मंत्रालय ने अपनी नई‘खाशोगी नीति’के तहत संभावित प्रतिबंधों की पहचान की है, जिसे अमेरिकी सांसदों को प्रसारित दस्तावेजों में वर्णित किया गया है और उसे मीडिया संस्थान को भी दिया गया है
इस नीति के तहत अमेरिका सऊदी अरब की सरकार के इशारे में इस गंभीर आपराध को अंजाम देने वाले लोगों को प्रतिबंधित किया जाएगा। जो बाइडेन प्रशासन ने खुफिया एजेंसी की एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें दावा किया गया है कि क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के कहने पर ही पत्रकार जमाल खगोशी की हत्या की गई थी। हालांकि क्राउन प्रिंस ने अमेरिका के इन दावों को सीरे से खारिज कर दिया है। बता दें कि साल 2018 में खगोशी की सऊदी अरब में हत्या हुई थी। बता दें कि डोनाल्ड्र ट्रंप के राष्ट्रपति रहते हुए सऊदी अरब और अमेरिका के रिश्ते अच्छे थे।
खास बात ये है कि उन दिनों ट्रंप और क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के बीच काफी करीबी रिश्ते बन गए थे। हाल के दिनों में ट्रंप के दामाद जैरेड कुशनेर और क्राउन प्रिंस के बीच वॉट्सऐप पर चैट को लेकर भी खुलासे हुए हैं। वॉशिंगटन में ईस्ट पॉलिसी के एक एक्सपर्ट सामन हेंडरसन का कहना है कि अमेरिका के लिए क्राउन प्रिंस से डील करना आसान नहीं होगा। बता दें कि पिछले साल मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर भी सऊदी अरब पर सवाल उठे थे।ई देशों और एक्सपर्ट को लगता है कि क्राउन प्रिंस अपने देश को एक ‘रफ स्टेट’ बना सकते हैं यानी अंतराष्ट्रीय कानूनों को तोड़कर वो दूसरे देशों के लिए खतरा बन सकते हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: