February 26, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

प्रशासन की लापरवाही से हुई भाकपा नेता की हत्या, बिहार में फेल है सुशासन :भाकपा विधायक

बेगूसराय:- भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कद्दावर नेता पूर्व अंचल मंत्री पूर्व, पूर्व मुखिया तथा वर्तमान मुखिया पति गणेश पोद्दार की हत्या को लेकर बेगूसराय में काफी आक्रोश का माहौल है तथा परिजन समेत तमाम लोगों ने प्रशासन पर हत्या की राजनीति करने का आरोप लगाया है। मृतक के पुत्र ने भाजपा के एक नेता पर साजिश रच कर घटना को अंजाम देने का आरोप लगाया है। बुधवार को पोस्टमार्टम के लिए शव आते ही सदर अस्पताल में विभिन्न राजनीतिक दल के नेताओं की भीड़ उमड़ पड़ी। इस हत्या को लेकर तमाम दल के नेताओं ने प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। सदर अस्पताल में पत्रकारों से बात करते हुए बखरी के विधायक सूर्यकांत पासवान ने कहा है कि बेगूसराय समेत पूरे बिहार में अपराधी बेलगाम हो गए हैं। गणेश पोद्दार की हत्या आपसी रंजिश ही नहीं, प्रशासन की लापरवाही से हुई है। बेगूसराय समेत पूरे बिहार में अपराधी बेलगाम है। चार साल पहले गणेश पोद्दार ने प्रशासन को आवेदन देकर सुरक्षा की मांग की थी, हथियार का लाइसेंस देने की मांग की थी। लेकिन वह आवेदन आज तक कलेक्टर के टेबल पर रखा हुआ है। सरकार के इस सड़ी गली व्यवस्था में आज तक उनको लाइसेंस नहीं मिला। हत्या की धमकी दी जा रही थी, तीन दिन पहले डीएसपी एवं एसडीओ से मिलकर सोशल मीडिया पर दिए जा रहे धमकी और गालियां का साक्ष्य समेत आवेदन दिया था। जिला प्रशासन को लिखकर दिया गया, लेकिन प्रशासन एक बार छानबीन करने तक करने नहीं आई। बिहार में विधि-व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है। रोज हत्याएं हो रही है, लेकिन आला अधिकारी कुंडली मारकर बैठे हुए हैं। पैक्स चुनाव में गणेश पोद्दार के उम्मीदवार की जीत हुई। कब्रिस्तान की घेराबंदी को लेकर विवाद हो रहा है, उसमें भी गणेश पोद्दार को टारगेट बनाया गया था, पंचायत सरकार भवन बनाने का भी कुछ लोग विरोध कर रहे थे। इन सारे मामलों को लेकर के अलावा आगामी पंचायत चुनाव में इनकी बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए लगातार जान से मारने की धमकी दी जा रही थी। विधायक ने घटना की न्यायिक जांच करते हुए कहा कि 24 घंटे के अंदर हत्यारे की गिरफ्तारी नहीं हुई तो उग्र आंदोलन होगा। मुखिया के पुत्र का कहना है कि लंबे समय से फेसबुक एवंं व्हाट्सएप पर हत्या की धमकी दी जा रही थी। लेकिन बार-बार अनुरोध करने के भी बाद बावजूद प्रशासन नेेेे कोई कार्यवाही नहीं की। समसा के सरपंच राम बसंत महतों ने कहा की इलाके में लगातार हो रही हत्या को लेकर लंबे समय से लोग पुलिस पिकेट की मांग कर रहे हैं। लेकिन कोई सुन नहीं रहा है, उन्हें भी रोज हत्या की धमकी दी जा रही है। इधर, पोस्टमार्टम के बाद पार्थिव शरीर को जिला मुख्यालय स्थित पार्टी कार्यालय लाया गया। जहां की तेघड़ा विधायक राम रतन सिंह एवं बखरी विधायक सूर्यकांत पासवान समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पार्टी का झंडा समर्पित करत अंतिम विदाई दी।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: