अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

छत्तीसगढ़ में पिछड़े वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की गणना एक सितम्बर से


रायपुर:- देश में अन्य पिछड़े वर्गों(ओबीसी) की गणना की हो रही मांग एवं मोदी सरकार के अब तक इससे इंकार करने के बीच कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ में पिछड़े वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की गणना के लिए सर्वेक्षण कार्य एक सितम्बर से शुरू हो रहा है। छत्तीसगढ़ की जनसंख्या में अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की गणना मोबाइल एप्प के माध्यम से की जाएगी।इस हेतु चिप्स द्वारा ‘सीजीक्यूडीसी‘नाम से मोबाईल एप्प तैयार किया गया हैं,जिसे प्ले स्टोर से इंस्टाल किया जा है। छत्तीसगढ़ क्वांटिफायबल डाटा आयोग के सचिव बी.सी.साहू ने बताया कि मोबाइल एप्प को इंस्टाल करने के बाद एप्प में आवेदक को पंजीयन करना होगा।पंजीयन हेतु एप्प में लॉगिन के लिए चार विकल्प दिये गये हैं।आधार कार्ड के द्वारा लॉगिन, राशन कार्ड के नंबर के आधार पर लॉगिन राशन कार्ड के मुखिया के मोबाइल नम्बर के आधार पर लॉगिन अथवा उपरोक्त में से कोई भी प्रमाण नहीं होने की दशा में आवेदक स्वयं के मोबाईल के आधार पर लॉगिन कर सकते हैं। उन्होने बताया कि लॉगिन उपरांत एप्प में एक प्रपत्र में आवेदक से संबंधित जानकारी जिसमें नाम, पिता अथवा पति का नाम, वार्षिक आय,परिवार के सदस्यों की संख्या, वार्ड अथवा ग्राम पंचायत, जनपद, जिला आदि की जानकारी भरकर अपलोड करना होगा। आवेदक के द्वारा अपलोड की गई जानकारी संबंधित आवेदक के ग्राम पंचायत, नगर पंचायत अथवा नगरीय निकाय के वार्ड के लिए नियुक्त किए गए सुपरवाईजर के पास स्वतः फारवर्ड हो जाएगी। आवेदक के क्षेत्र में अधिकृत सुपरवाईजर के पास जैसे ही आवेदक की जानकारी प्राप्त होगी, वह उसका सत्यापन करेगा, तत्पश्चात् डाटा सर्वर में सुरक्षित रहेगा। यह डाटा राज्य के अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की गणना में सहायक होगी। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य की जनसंख्या में अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की गणना के लिए छत्तीसगढ़ क्वांटीफायबल डाटा आयोग का गठन किया है।

%d bloggers like this: