June 14, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

5G रेडियो तरंगो की वजह से नहीं फैलता कोरोना वायरस, 5G तकनीक का स्वास्थ्य पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं

नई दिल्ली:- कोरोना वायरस फैलने को लेकर कई तरह के दावे किये जा रहे हैं। ऐसा ही एक दावा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हो रहा है कि 5G रेडियो तरंगो की वजह से कोरोना वायरस फैल रहा है। इन दावों की हकीकत जानने के लिए हमनें The Dialogue के फाउंडिंग डायरेक्टर Kazim Rizvi से बातचीत की है। काजिम रिजवी की मानें, तो शुरुआत में ही यह स्पष्ट करने की आवश्यकता है कि कुछ सोशल मीडिया पोस्ट जो दावा करते हैं कि COVID-19 की दूसरी लहर और 5G परीक्षण के बीच कोई सम्बन्ध है वो पूरी तरह से निराधार हैं।
वायरस रेडियो तरंगों या मोबाइल नेटवर्क से नहीं करते हैं यात्रा
रिजवी ने बताया कि यह पहले से ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) सहित कई संगठनों की ओर से स्थापित किया गया है कि 5G तकनीक का स्वास्थ्य पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ता है।WHO ने COVID और 5G पर विशेष रूप से कहते हुए पहले ही इस दावे को खारिज कर दिया है और कहा है कि वायरस रेडियो तरंगों या मोबाइल नेटवर्क के माध्यम से यात्रा नहीं कर सकते हैं। सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावों के पास इसका समर्थन करने के लिए कोई सबूत नहीं है। इसके अलावा, भारत में 5G परीक्षण अभी भी एक शुरुआती अवस्था में हैं और छोटे स्तर पर किए जा रहे हैं। इसलिए, इन दावों को कोई महत्व नहीं दिया जाना चाहिए।
*5G का है अहम रोल*
जहां तक 5G तकनीक का सवाल है, इसमें कोई संदेह नहीं है कि स्थानीय और वैश्विक डिजिटल बुनियादी ढांचे के विकास में इसकी प्रमुख भूमिका है। स्मार्ट शहरों के निर्माण की संभावना 5G प्रौद्योगिकी के आधार पर आधारित है जो इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) का एक प्रमुख प्रवर्तक है। यह तकनीक डेटा गहन मशीनों के साथ-साथ स्वचालित उद्योगों के विकास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।हालांकि, भारत अभी भी 5G परीक्षणों के अपने शुरुआती चरण में है और 5G बुनियादी ढांचे को विकसित करने के लिए आगे एक लंबी दूरी तय करनी है, जिसमें इस तकनीक को जमीनी स्तर पर लाने के लिए भारी निवेश के साथ-साथ नीति और नियामक समर्थन की आवश्यकता होगी। वर्तमान बोझिल और असमान अनुपालन दायित्वों के साथ-साथ नियामक बाधाएं देश में इसके बुनियादी ढांचे के निर्माण में देरी के प्राथमिक कारणों में से एक हैं। 5G इंफ्रास्ट्रक्चर का तेजी से और प्रभावी विकास करने के लिए दूरसंचार कंपनियों पर बढ़ते बोझ को कम करने के साथ-साथ एक सही नियामक दृष्टिकोण की आवश्यकता है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: