February 26, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पंजीकृत लोगों को दिया जाएगा 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीन, सारी तैयारियां पूरी

किशनगंज:- किशनगंज जिले में कोरोना वैक्सीन की पहली खेप आ चुकी है। पहले फेज के तहत 16 जनवरी से मेडिकल टीम को जिले के पांच अस्पतालों- सदर अस्पताल, किशनगंज, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ठाकुरगंज,सीएचसी बहादुरगंज,सीएचसी पोठिया तथा एमजीएम अस्पताल केंद्र पर कोरोना टीकाकरण दिया जाएगा।
इस बाबत जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश ने समाहरणालय के सभाकक्ष में प्रेस वार्ता कर विस्तृत रूप से जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि हेल्थ डिपार्टमेंट के अनुसार पहले टीकाकरण के 28 दिन के बाद दूसरा डोज तथा कोरोना वैक्सीन के दूसरे डोज के 14 दिन के बाद इसका प्रभाव अर्थात् लगभग 45 दिनों के बाद एंटीबॉडी विकसित होग। तबतक सभी को कोविड 19 प्रोटोकॉल काअनुपालन निश्चित रूप से करना होगा।
टीकाकरण के पूर्व कमरों और कार्य कर रहे कर्मियों को सैनिटाइज किया जायेग। सभी को मुंह पर मास्क लगाना होगा तथा कोविंड-19 के हर नियम का पालन करना होगा।
इसके लिए कंट्रोल रूम गठित हो गया है तथा पहले जिला स्तर पर फिर प्रखंड एवं जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग प्राप्त किया जाएगा।
साथ ही सिविल सर्जन डॉ श्रीनंदन ने भी बताया है कि कोविंड-19 टीकाकरण के सफल क्रियान्वयन के लिए आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई है । टीकाकरण सत्र स्थानों पर अपनाई जाने वाली प्रक्रिया पर वैक्सीनेटर को भी प्रशिक्षित किया गया है जिसे लाभार्थी सत्यापन, टीकाकरण ,कोल्ड चेन और लॉजिस्टिक्स प्रबंधन, बायोमेडिकल, वेस्ट मैनेजमेंट, एईएफआई प्रबंधन और को-विन सॉफ्टवेयर पर जानकारी अपलोड करना शामिल है ।
उन्होंने बताया कि विभागीय निदेश के आलोक में वैक्सीनेशन कार्य सम्पन्न कराने हेतु 03 कमरों यथा-वेटिंग रूम, वैक्सीनेशन रूम, आबजरवेशन रूम को चयनित कर लिया गया है। सभी स्थानों पर कोविड-19 प्रोटोकाॅल का अनुपालन किया जायेगा। वेटिंग रूम हवादार होगा एवं वैक्सीनेशन स्थल पर हैंड सैनेटाइजर, हाथ धोने हेतु साबुन एवं पानी, विकलांग व्यक्तियों के लिए व्हील चेयर तथा पेयजल की सुविधा रहेगी। साथ ही वेटिंग रूम में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जायेगा।
प्रेजेंटेशन के माध्यम से डॉ अमित राव ने बताया कि वैक्सीनेशन के दौरान सर्वप्रथम व्यक्ति की पहचान की जायेगी उसके पश्चात विभागीय पोर्टल से डाटा मिलान कर टीकाकरण हेतु टीकाकरण कक्ष में भेजा जायेगा। प्रशिक्षित टीकाकर्मी द्वारा टीका दिया जायेगा। इसके बाद व्यक्ति को चिकित्सकों की देखरेख में आॅबजरवेशन रूम में रखा जायेगा। विशेष परिस्थिति से निपटने हेतु एंबुलेंस की व्यवस्था की गयी है। आॅबजरवेशन रूम में दो बेड, बीपी मापने की मशीन, आ. भी. एनाफाइलीसिस कीट तथा अन्य आवश्यक दवाओं के साथ चिकित्सक एवं पारामेडिक एवं अन्य सुविधाएं उपलब्ध रहेगी।
उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन के दौरान निकलने वाले बाॅयोमेडिकल वेस्ट का निष्पादन विभागीय निदेशानुसार की जायेगी बाॅयोमेडिकल वेस्ट का प्राॅपर तरीके से निष्पादन चयनित संस्था के द्वारा किया जाना है।
पुनः डीएम ने बताया कि वैक्सीनेशन कार्य का सतत अनुश्रवण एवं निरीक्षण करने हेतु जिलास्तर पर अधिकारियों एवं डाॅक्टरों का दल गठित किया जा चुका है। साथ ही, प्रखंड स्तर एवं जिलास्तर पर दण्डाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति करते हुए नियंत्रण कक्ष संचालित किया जायेगा, जहां पल-पल की गतिविधियों से वरीय अधिकारी अवगत होते रहेंगे तथा वैक्सीनेशन स्थल पर आने वाली समस्याओं का त्वरित निष्पादन करायेंगे।
उन्होंने बताया कि 16 जनवरी को चयनित 05 अस्पतालों में प्रति अस्पताल 100 लाभार्थियों के अनुसार टीकाकरण का कार्य सम्पन्न होगा। साथ ही वैक्सीनेशन के प्रथम चरण में 8028 हेल्थ केयर वर्कर को टीका दिया जाना है। यह टीकाकरण पूर्णत: सुरक्षित है।
प्रेस वार्ता में सिविल सर्जन, डॉ श्रीनंदन ,डीपीआरओ रंजीत कुमार,डीपीएम स्वास्थ्य ,मोनाजीर सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

संवाददाता सुबोध

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: