अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना संक्रमण बेकाबू, सीएम ने 7 नये पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का किया उदघाटन

कहा- सीमित संसाधनों के बीच बेहतर प्रबंधन से कोविड-19 को नियंत्रित करने का प्रयास




रांची:- झारखंड में पिछले एक पखवाड़े में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में बेतहाशा बढ़़ोत्तरी हुई है। 20 दिन पहले जहां सक्रिय संक्रमितों की संख्या एक सौ से नीचे थी, वहीं अब राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 30 हजार पहुंच गयी है। इस दौरान कोरोना संक्रमित दर्जनों लोगों की मौत भी हो गयी। इस बीच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन स्थिति से निपटने को लेकर स्वास्थ्य विभाग के वरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे है और खुद स्वास्थ्य व्यवस्था को सुदृढ़ करने की तैयारियों की मॉनिटरिंग कर रहे है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने वर्चुअल माध्यम से 7 नये पीएसए ऑक्सीन प्लांट का उदघाटन किया।

स्थिति से निपटने के लिए 25हजार बेड उपलब्ध

मुख्यमंत्री  ने कहा कि  प्रखंड से लेकर जिला स्तर तक  स्वास्थ्य से संबंधित आधारभूत संरचना को मजबूत किया जा रहा है, ताकि लोगों को उनके घर के  निकटवर्ती अस्पताल या स्वास्थ्य केंद्रों में बेहतर चिकित्सीय लाभ मिल सके।  उनहोंने कहा कि लगभग 2 वर्ष पहले जब कोविड-19  महामारी ने पूरी दुनिया में दस्तक दी थी तो झारखंड भी इससे अछूता नहीं था। सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती थी कि कोरोना की जांच की सुविधा तक राज्य में उपलब्ध नहीं थी। लेकिन, आज हर जिले में पीएसए प्लांट स्थापित किए जा चुके हैं। कोरोना की जांच के लिए आरटीपीसीआर और अत्याधुनिक कोबास मशीन भी यहां है।  अस्पतालों में लगभग 25 हज़ार बेड उपलब्ध हैं। अब राज्य में ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड, आईसीयू और वेंटीलेटर की पर्याप्त उपलब्धता है। 

तीसरी लहर को भी काबू में करने का प्रयास

मुख्यमंत्री ने कहा कि  सीमित संसाधनों के बीच बेहतर प्रबंधन के साथ हमने कोरोना के खिलाफ जंग शुरू की और सभी ने देखा है कि पहली दो लहरों को नियंत्रित करने में काफी हद तक कामयाबी हासिल की। अभी तीसरी लहर चल रही है और इसे भी काबू में करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं ।

सात पीएसए प्लांट की स्थापना
पाथ संगठन के सहयोग से रांची के सदर अस्पताल में दो, जमशेदपुर के मर्सी हॉस्पिटल में एक, रामगढ़  ट्रॉमा सेंटर में एक, देवघर सदर अस्पताल में एक और चाकुलिया (पूर्वी सिंहभूम) तथा कुचाई (सरायकेला- खरसावां)  सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक -एक पीएसए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए गए हैं।

%d bloggers like this: