January 19, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

रांची, धनबाद व जमशेदपुर में कोरोना संक्रमण ने 51 की ली जान

झारखंड में कोरोना संक्रमण से अब तक 83 की मौत

राँची:- झारखंड में जुलाई महीने में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से मरने वाले मरीजों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी हुई है। राज्य के विभिन्न जिलों में कोरोना संक्रमण से अब तक 83 लोगों की मौत हो चुकी है, इनमें से 51 संक्रमित सिर्फ रांची, धनबाद और जमशेदपुर (पूर्वी सिंहभूम) के है।
26 जुलाई की सुबह 10 बजे तक जारी आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक रांची में कोरोना से 17, जमशेदपुर में 21 और धनबाद में 13 लोगों की मौत हो चुकी है। इन तीन शहरों में सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स, एमजीएम और पीएमसीएच हैं, जहां कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है। साथ ही जमशेदपुर में टीएमएच को भी कोविड सेंटर बनाया गया है।

एक्टिव केस भी सबसे ज्यादा
आंकड़े बताते हैं कि पूरे राज्य में अब तक संक्रमण के 7892 ममले सामने आए हैं। इनमें 3521 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. फिलहाल 4288 लोगों का इलाज चल रहा है। इन्हीं तीन जिलों में फिलहाल सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं। जमशेदपुर में एक्टिव केस की संख्या 836, रांची में यह संख्या 1139 और धनबाद में 278 है। इनके अलावा गिरिडीह में 4, हजारीबाग में 6 और सरायकेला में 4 लोगों की मौत हुई है। बोकोरा, गोड्डा और साहिबंगज में दो-दो लोग की मौत कोरोना से हुई है।

सात जिलों में मौत नहीं
राहत की खबर यह है कि सात जिलों में मौत के आंकड़े दर्ज नहीं किए गए हैं। इनमें चतरा, दुमका, जामताड़ा, लातेहार, लोहरदगा, पाकुड़, और पलामू शामिल है। जुलाई महीने की पहली तारीख को तमाम आंकड़े बता रहे थे कि राज्य कोरोना के जद से तेजी से बाहर निकल रहा है, लेकिन कोरोना ने पलट कर लपेटना शुरू कर दिया है। इसकी वजहों को लेकर सरकार सकते में है। जबकि हाईकोर्ट ने कोरोना से निपटने की सरकारी तैयारियों पर चिंता जाहिर करते हुए इसे बेहद डराने वाला बताया है। राज्य में एक जुलाई को कोरोना संक्रमण का ग्रोथ रेट 1.78 प्रतिशत था, जो अब 5.56 प्रतिशत पर पहुंच गया है। जबकि देश में ग्रोथ रेट 3.53 प्रतिशत है। एक जुलाई को को मौत का आंकड़ा 15 था, जो अभी 83 पर पहुंच गया है। यानी 25 दिनों के दौरान 68 लोगों की मौत हुई है। 25 दिनों के दौरान मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण रिकवरी रेट में भी लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। 29 जून की रात जारी आधिकारिक बुलेटिन के मुताबिक राज्य में कोराना से रिकवरी रेट बढ़कर 76.21 प्रतिशत हो गया था, तब अधिकारियों ने रिकवरी रेट में और बढ़ोतरी की उम्मीद जताई थी, लेकिन अब यह 44.90 प्रतिशत पर पहुंच गया है, यह ज्यादा चिंता की बात है।

Recent Posts

%d bloggers like this: