January 28, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना संक्रमित सायना-प्रणय थाईलैंड ओपन से हटे, कश्यप को भी हटना पड़ा

बैंकाक:- भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल और एचएस प्रणय बैंकाक पहुंचने के बाद तीसरे कोविड-19 टेस्ट में कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं और उन्हें मंगलवार से शुरू हो रहे थाईलैंड ओपन से हटना पड़ा है। सायना के पति परुपल्ली कश्यप भी टूर्नामेंट से हटने के लिए मजबूर हुए हैं।
भारतीय बैडमिंटन संघ (बाई) ने भी यह पुष्टि कर दी है। बाई ने एक बयान जारी कर कहा कि भारतीय टीम के बैंकाक पहुंचने के बाद पहले दो टेस्ट नेगेटिव रहे थे लेकिन सोमवार को तीसरे टेस्ट में सायना और प्रणय पॉजिटिव पाए गए। इन दोनों खिलाड़ियों को अस्पताल ले जाया गया है जहां ये 10 दिनों तक आइसोलेशन में रहेंगे जबकि सायना के पति कश्यप अपने होटल के कमरे में आइसोलेशन में रहेंगे। बाई ने बयान में कहा कि ये तीन खिलाड़ी टूर्नामेंट से हट गए हैं जबकि अन्य खिलाड़ी टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे। लेकिन हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के साथ कोच और अन्य स्टाफ सुरक्षा प्रोटोकॉल के कारण नहीं होगा। बाई ने साथ ही बताया कि बाकी खिलाड़ियों की रिपोर्ट नेगेटिव है लेकिन एहतियातन उनका आज फिर टेस्ट होगा।
कश्यप को मंगलवार को कनाडा के जैसन एंथनी हो-शुई से खेलना था। कश्यप को एक और राउंड की टेस्टिंग के लिए अस्पताल ले जाया गया है क्योंकि वह सायना के साथ रह रहे थे। कश्यप के टेस्ट के परिणाम की प्रतीक्षा है। लेकिन आयोजकों को आशंका है कि वह भी पॉजिटिव हो सकते हैं। ये सभी परिणाम अभी मौखिक हैं और भारतीय टीम को रिपोर्ट की प्रतीक्षा है। थाईलैंड के कोरोना प्रोटोकॉल के अनुसार सायना और प्रणय को 10 दिन तक अस्पताल में रहना होगा। शेष भारतीय टीम को टूर्नामेंट में हिस्सा लेने की इजाजत दे दी गयी है। यह दूसरी बार है जब सायना और प्रणय पॉजिटिव पाए गए हैं। पिछले महीने ये खिलाड़ी कश्यप के साथ गुरुसाईदत्त की शादी के दौरान पॉजिटिव पाए गए थे और इन्हें क्वारंटीन में रहना पड़ा था। क्वारंटीन अवधि पूरा करने के बाद इनके टेस्ट नेगेटिव आये थे जिसके बाद ये बैंकाक के लिए रवाना हुए थे। आगमन पर भी उनकी रिपोर्ट नेगेटिव थी लेकिन तीसरे राउंड की टेस्टिंग में ये पॉजिटिव पाए गए। प्रणय बैंकाक में अपने कमरे में अकेले रह रहे थे , इसलिए अन्य कोई भारतीय खिलाड़ी इस संक्रमण की चपेट में नहीं आया। सायना के कोरोना संक्रमित होने से उनके टोक्यो ओलंपिक में क्वालीफाई करने पर भी संशय उत्पन्न हो गया है। ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई करने के लिए सायना के पास सिर्फ मार्च तक का समय है, ऐसे में उनका कोरोना संक्रमित होना मुश्किल पैदा कर सकता है। पहले सायना इस बात को लेकर चिंतित थीं कि उचित प्रशिक्षण की कमी से उनके प्रदर्शन पर असर पड़ सकता है। उन्होंने इस मुद्दे को लेकर बीडब्ल्यूएफ से संपर्क करने की कोशिश की थी लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। उन्होंने कहा था, ‘‘पूरी टीम को अभ्यास के लिए सिर्फ एक घंटे का समय मिल रहा है। एक ही समय पर जिम करना है। ओलंपिक क्वालीफिकेशन के लिए मार्च तक का समय है ऐसे में फिटनेस के लिए यह अच्छा नहीं है।’’ भारत का पूरा दल बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर फाइनल्स की दो सुपर 1000 प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए थाईलैंड की राजधानी में है।

Recent Posts

%d bloggers like this: