अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पारिस्थितिकी तंत्र के संतुलन के लिए जैव विविधता का संरक्षण महत्वपूर्ण : आयुक्त

मानव जीवन को बचाने के लिए प्रकृति का संरक्षण आवश्यक

मेदिनीनगर:- आयुक्त जटाशंकर चौधरी आज छतरपुर प्रखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत डाली बाजार के कौशल नगर में पर्यावरण धर्म ज्ञान मंदिर का शिलान्यास किया एवं दुर्लभ कलपतरू का पौधा लगाकर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। मौका था स्थानीय पर्यावरणविद् कौशल किशोर जायसवाल के निःशुल्क पौधा वितरण सह पौधारोपण का 55वां वर्ष एवं श्री जायसवाल द्वारा चलाये जा रहे पर्यावरण धर्म एवं वनराखी मूवमेंट के 45 वें वर्षगांठ का। इस दौरान उन्होंने वार्षिक पौधा वितरण शिविर का भी उद्घाटन किया एवं ग्रामीणों के बीच पौधा वितरण किया। आयुक्त ने मोहनलाल खुर्जा व पार्वती देवी नामक दुर्लभ प्रजाति के पौधों के पार्क का अवलोकन कर उसकी सराहना की। आयुक्त ने कहा कि पारिस्थितिकी तंत्र के संतुलन के लिए जैव विविधता का संरक्षण महत्वपूर्ण है। वर्तमान पीढ़ी के साथ-साथ हमारी आनेवाली पीढ़ियां यदी देशी फल-फूल, पौधों, वनस्पतियों से परिचित नहीं होंगे, तो उनका योगदान पर्यावरण सुरक्षा में नगण्य रहेगा। इसी को ध्यान में रखते हुए पर्यावरण प्रेमी श्री जायसवाल का प्रयास मायने रखता है।
उन्होंने कहा कि मानव जीवन को बचाने के लिए प्रकृति का संरक्षण आवश्यक है। दुर्लभ प्रजाति के पौधों को विकसित किए जाने से आने वाली पीढ़ी देखेगी कि इस तरह का पौधा कैसा होता है। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम के आयोजन से लोग प्रेरित होंगे और पर्यावरण के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। उन्होंने सभी नागरिकों से पौधा लगाने की अपील करते हुए कहा कि पौधा हमें फल व लकड़ियां और ऑक्सीजन देते हैं। श्वास लेने के लिए ऑक्सीजन का होना अति आवश्यक है। हम सबों को शुद्ध ऑक्सीजन पेड़-पौधों से ही मिलेगा। इसलिए अधिकाधिक पौधारोपण करें, ताकि पेड़ तैयार हो सके।
पर्यावरणविद् कौशल किशोर जायसवाल ने कहा कि पर्यावरण धर्म ज्ञान मंदिर विश्व का पहला है। इसे बनाने का उद्देश्य है कि लोग अपने धर्मों के साथ-साथ पर्यावरण धर्म को अपनाएं और जल-जीवन को बचाने का कार्य करें। उन्होंने पर्यावरण धर्म के 8 मूल ज्ञान मंत्रों का पालन करने की भी अपील की। मौके पर मुखिया अमित कुमार जायसवाल, सुचीत कुमार जायसवाल, सूरज प्रसाद, महेजर यादव, रामजी प्रसाद, रामजन्म यादव, जुबैर अंसारी, महेश यादव, विनोद यादव आदि स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीण उपस्थित थे।
इधर, आयुक्त जटाशंकर चौधरी बसना गांव पहुंचकर बालमुकुंद पांडेय द्वारा आयोजित पौधा वितरण कार्यक्रम में भाग लिया और उन्होंने अपने हाथों से बसना के ग्रामीणों के बीच पौधा वितरण किया। उन्होंने पौधे का सही से देखभाल करने और उसके महत्व को समझने की बातें कही। उन्होंने कहा कि एक ओर अमरूद, पपीता आदि फलदार पौधे हम सबों को फल देते हैं, वहीं शीशम, सागवान आदि पौधों से हमसबों को लकड़ियां प्राप्त होती है। पौधा लगाये जाने से पर्यावरण संतुलन बना रहता है। मौके पर अपर समाहर्ता सुरजीत कुमार सिंह, नावा बाजार के अंचल अधिकारी राकेश कुमार सिन्हा, मुखिया सुरेश मेहता, पंकज तिवारी आदि उपस्थित थे।

%d bloggers like this: