January 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कांग्रेस ने बिजली विभाग के दोषी अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के साथ सीधी कार्रवाई की चेतावनी दी

राँची:- झारखंड की राजधानी रांची समेत राज्य के विभिन्न जिलों में बिजली विभाग की लापरवाही के कारण निरंतर हो रही दुर्घटना के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस ने दोषी अधिकारियों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराने के साथ ही ऐसे निकम्मे अधिकारियों के चेहरे पर कालिख पोतने और उन्हें कार्यालय में ही नजरबंद करने की घोषणा की है।
पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि पिछले 19 वर्षों में बिजली विभाग की अकर्मण्यता किसी से छिपी हुई नहीं है। आम लोगों के बर्दास्त करने की वजह से इन लोगों का मन बढ़ा हुआ है। उन्होंने बताया कि बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से कल ही प्रदेश काँग्रेस कमिटी के प्रवक्ता के छोटे भाई गोपी दूबे करंट लगने से जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रहे है, दूसरी तरफ बिजली विभाग और विद्युतीकरण के कार्य में लगी केईआई नामक कंपनी की ओर से की जा रही गलतबयानी से सभी हतप्रभ है। इन अधिकारियों को जब तक सजा नहीं मिलेगी और डर नहीं होगा, तब तक ये सुधरने वाले नहीं है।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि घटना में शामिल बिजली विभाग और विद्युतीकरण कार्य में लगी कंपनी के दोषी अधिकारियों के खिलाफ नामजद प्राथमिक दर्ज करायी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस मामले में झारखंड राज्य विद्युत विभाग के कार्यपालक निदेशक के.के. वर्मा, महाप्रबंधक संजय कुमार, अधीक्षण विद्युत अभियंता प्रभात श्रीवास्तव, कार्यपालक विद्युत अभियंता शंभूनाथ चौधरी, सहायक विद्युत अभियंता वीरेंद्र कुमार, केईआई कंपनी के पवन नंदी, राहुल मिश्रा और इनके अन्य सहयोगियों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी जाएगी और सीधी कार्रवाई भी जाएगी। उन्होंने कहा कि इन अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अमूल्य नीरज खलखो ने कहा कि बिजली विभाग के दोषी अधिकारियों के खिलाफ कानूनी लड़ाई के साथ ही ऐसे निकम्मे अधिकारियों के चेहरे पर कालिख पोतने और नजरबंद करने की भी कार्रवाई की जाएगी।
युवा काँग्रेस नेता सन्नी टोप्पो ने कहा कि बिजली विभाग की लापरवाही नयी नहीं है, पूरे शहर में गड्डा है, कहीं बिजली विभाग, तो कहीं नगर निगम की नालियां, तो कहीं केबल कंपनी, तो कहीं जिओ, तो कहीं रिलायंस समेत अन्य तरह-तरह की कंपनियों की वजह से पूरे शहर में बड़े-बड़े गड्ढे बन गये है, जिसके कारण बारिश के मौसम में लगातार कई दुर्घटनाएं हो रही है।
भारतीय युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव राजेश सिन्हा सन्नी ने कहा कि पिछले 19 वर्षां के दौरान बिजली विभाग की लापरवाही से हुई जान-माल की क्षति का आकलन संभव नहीं है। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ अब सीधी कार्रवाई का वक्त आ गया है।
अनुसूचित जनजाति कांग्रेस के अध्यक्ष बेलस तिर्की ने कहा कि शहर के कई गली मुहल्लों में बिजली के नंगे तार नीचे झूलते आसानी से देखे जा सकते है, लोग मजबूरन बांस-बल्ली खड़कर संकट को टालने के प्रयास में जुटे है, लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों के कान में जूं तक नहीं रेंग रही है,इसलिए अब सीधी कार्रवाई का वक्त आ गया है।
प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शकील अख्तर अंसारी ने कहा कि कई बार विद्युतीकरण के कार्य में लगी कंपनियों की ओर से सरकारी काम में बाधा डालने की धारा लगाकर कार्रवाई के नाम पर डरा-धमकाकर चुप करा दिया जाता है, लेकिन अब लोग चुप नहीं बैठने वाले है।
सेवा दल की प्रदेश अध्यक्ष नेली नाथन ने कहा कि बिजली विभाग की ओर से कई स्थानों पर नंगे तार को ऐसे ही छोड़ दिया गया है, जिसके कारण कई छोटे-छोटे बच्चे भी खेल-खेल में गड्ढे में गिर जाते है या करंट लगने से उनके साथ दुःखद हादसा हो जाता है। ऐसी घटनाओं के लिए दोषी अधिकारियों को बख्शा नहीं जा सकता है।
अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष केदार पासवान ने कहा कि अब जनता आर-पार की लड़ाई के लिए पूरी तरह से तैयार है। बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से न सिर्फ लोगों की जान जा रही है, जबकि कई बेजुबान मवेशी भी इसकी चपेट में आ रहे है, जिनकी आवाज अब दबने वाली नहीं है।
प्रदेश युवक काँग्रेस कमिटी के पूर्व अध्यक्ष निरंजन पासवान ने कहा कि राजधानी सहित पूरे प्रदेश में बिजली विभाग की अकर्मण्यता के वजह से प्रतिदिन कोई ना कोई घटना होती है और एक भी दिन ऐसा नहीं है जब लोगों की जान नहीं जाती हो और अधिकारी गण घूसखोरी में लगे रहते हैं।उन्होंने कहा कि बिजली विभाग के अधिकारियों को आन्दोलन से कोई डर नहीं है,इनके खिलाफ सख्ती की आवश्यकता है।

Recent Posts

%d bloggers like this: