January 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बंगाल में लगातार दूसरे दिन सम्पूर्ण लॉक डाउन, सड़कों पर पसरा सन्नाटा

कोलकाता:- पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा किए गए दो दिनों के संपूर्ण लॉक डाउन का असर गुरुवार के बाद लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी कोलकाता समेत राज्यभर की सड़कों पर देखने को मिला है। कोलकाता समेत राज्य के हर छोटे-बड़े शहर में सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। इसकी वजह है कि पूरे राज्य में प्रशासन ने लॉक डाउन को लागू करने के लिए सख्ती बरतने का निर्देश दिया था। बुधवार रात को ही जगह-जगह बैरिकेडिंग की गई थी। पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने कुछ खास दिनों पर प्रदेश में पूर्ण लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया है। सरकार के लॉक डाउन रखने की योजना के तहत यहां सभी दुकानें बंद हैं और परिवहन के सभी साधन भी सड़कों से नदारद दिखे। 20 अगस्त को भी इसी तरह से प्रदेश में लॉक डाउन लगाया गया था। कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि महानगर में लॉक डाउन की पाबंदियां सुनिश्चित करने के लिए चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई है। प्रदेश के कुछ हिस्सों में वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन के बीच सप्ताह में कुछ खास दिनों पर सम्पूर्ण लॉक डाउन को लागू करने का कदम उठाया गया है। पुलिस के विशेष दल शहर के विभिन्न हिस्सों में, खासकर कन्टेन्मेंट जोन में गश्त लगा रहे हैं। अकेले राजधानी कोलकाता में 8000 से अधिक पुलिसकर्मियों की तैनाती हुई है ताकि पाबंदियां सुनिश्चित की जा सकें। लोगों को घरों और उनके इलाके से निकलने से रोकने के लिए राज्य के विभिन्न हिस्सों में अवरोधक भी लगाए गए हैं। आपातकालीन सेवाओं के अलावा सरकारी और निजी, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, सार्वजनिक और निजी परिवहन, अन्य गतिविधियां बंद हैं। महानगर में लॉक डाउन का पालन सुनिश्चित करने के लिए सभी संभागों में ड्रोन उड़ाए जा रहे हैं ताकि सड़कों पर मौजूदा स्थिति के बारे में निगरानी रखी जा सके। इसके अलावा ट्रैफिक पुलिस के कैमरों का इस्तेमाल भी लाल बाजार स्थित पुलिस मुख्यालय से की जा रही है। निगरानी कक्ष में बैठे पुलिस के अधिकारी महानगर के चप्पे-चप्पे पर हालात पर नजर रख रहे हैं। कोलकाता के सीमावर्ती बाजारों पर भी पुलिस ने पहली नजर रखी है ताकि लॉक डाउन की पाबंदियों को तोड़ा ना जा सके।

Recent Posts

%d bloggers like this: