अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

साझा संकल्प ने चुनौतियों पर विजय दिलाई : नकवी


नयी दिल्ली:- केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि आज़ादी के 75 साल में मुल्क ने बहुत उतार चढ़ाव, संकट और चुनौतियाँ देखी हैं लेकिन हमारी साझा तहज़ीब और संकल्प ने विजय दिलाई और विजय पताका पूरी दुनिया में फैलाई है। श्री नकवी ने शनिवार को यहाँ भारत की आजादी के 75 वर्षों के ‘अमृत महोत्सव’ के अन्तर्गत “मेरा वतन, मेरा चमन” मुशायरा का शुभारम्भ करते हुए कहा हमारी साझा तहज़ीब और संकल्प ने हर तरह के संकट और चुनौतियों से निपटने में सक्षम बनाया है। उन्होंने कहा कि आज हमारे देश ने सबसे बड़ी चुनौती जो महसूस किया है वह है कोरोना। लगभग एक साल पहले यह चुनौती ना सिर्फ़ हमारे देश बल्कि पूरी दुनिया में आई है। उन्होंने कहा कि समाज का संकल्प, समाज का संयम, समाज की सावधानी और सरकार के साधन और सुविधाओं ने उस कोरोना के कहर से भारत को मुक्त कराने के रास्ते पर खड़ा किया है। श्री नकवी ने कहा कि एक सौ साल पहले स्पेनिश फ़्लू आई थी उस वक़्त हमारे देश की आबादी तीस करोड़ थी जिसमें पाकिस्तान और बंगलादेश भी था। उस दौरान तीस करोड़ में से दो करोड़ लोगों की दुर्भाग्यपूर्ण मौत हो गई थी जिसमें 80 फ़ीसदी मौत भुखमरी से हुई थी। आज दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम भारत में चल रहा है। 80 करोड़ लोगों को राशन दिया जा रहा है। अब तक करीब सत्तर करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है। हम इसी संकल्प और सोच के साथ आगे बढ़ रहे है। हमें अपने ऊपर फ़ख़्र है कि हम हिंदुस्तानी हैं जहां भाईचारा भी है और सौहार्द भी है। ग़ौरतलब है कि आजादी के ‘अमृत महोत्सव’ के अन्तर्गत केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय 2023 तक ‘‘मेरा वतन, मेरा चमन” मुशायरों, कवि सम्मेलनों का देश भर में आयोजन कर रहा है। इनमें देश के जाने-माने एवं उभरते शायर एवं कवि अपनी शायरी, कविताओं से आजादी के 75 वर्षों से जुड़ी यादों से लोगों को रूबरू करायेंगें। दिल्ली के डॉ. अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित आज के मुशायरे में वसीम बरेलवी, शबीना अदीब, मंजर भोपाली, डा. वी. पी. सिंह, सबा बलरामपुरी, हसीब सोज, डाॅ. एजाज़ पॉपुलर मेरठी, सरदार सुरेंद्र सिंह शजर, सिकंदर हयात गड़बड़, खुर्शीद हैदर, अकील नोमानी, डाॅ. अब्बास रज़ा नय्यर जलालपुरी जैसे जाने-माने शायर शिरकत कर रहे हैं।

%d bloggers like this: