April 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार में 353 दिन बाद आज खुले कक्षा एक से पांचवीं तक के वर्ग

पटना:- बिहार में आज कोरोना महामारी के बीच 352 दिन बाद प्राथमिक विद्यालय (कक्षा 1 से 5 तक) खुल गए। राज्य सरकार ने सख्त दिशा-निर्देशों के साथ स्कूल खोलने की इजाजत दी है। हालांकि, सोमवार को कुछ स्कूल ही खुले। अधिकतर में ऑनलाइन फाइनल एग्जाम चल रहे हैं या फिर उनकी पूरी तैयारी नहीं है। आज कई सरकारी प्राथमिक विद्यालय भी खुले। राजधानी पटना के ज्यादतर नामचीन प्राइवेट प्राथमिक स्कूल सोमवार से नहीं खुले। पटना में सेंट माइकल प्राइमरी स्कूल, नॉट्रेडम एकेडमी, सेंट जेवियर्स प्राइमरी स्कूल, डॉन बॉस्को प्राइमरी स्कूल, सेंट जोसेफ, सेंट कैरेंस प्राइमरी स्कूल, डीएवी स्कूल बोर्ड कॉलोनी जैसे बड़े स्कूल बंद रहे। डीएवी स्कूल स्कूल में छठी से ऊपर की कक्षा में परीक्षा चल रही है इसलिए प्राइमरी सेक्शन को नहीं खोला गया है। वहीं क्राईस्ट चर्च स्कूल के बच्चों की परीक्षा खत्म हो गई है। इसलिए क्लास बंद है। माउंट कॉर्मेल स्कूल में ऑनलाइन परीक्षा होगी एवं क्लास नये सत्र में खुलेगा। खुलने वाले स्कूलों में अधिकतर बहुत ही स्थानीय स्तर के रहे। कई स्कूलों में यह भी देखा गया कि पहले फीस की रसीद मांगी गई फिर बच्चों को अंदर जाने दिया गया। राजीव नगर में कमला नेहरू शिशु विहार उच्च विद्यालय और प्रेमा हाई स्कूल खुले रहे। सरकारी स्कूलों में भी तैयारी अधूरी है। सरकारी स्कूलों को अभी तक मास्क नहीं भेजे गए हैं। कोरोना की गाइडलाइन का पालन करते हुए स्कूलों को खोलने का निर्णय लिया गया है, लेकिन सरकार के आदेश का ही पालन नहीं हो रहा है। रविवार तक किसी भी स्कूल में मास्क नहीं पहुंचा था, जिससे कोरोना के सेकेंड फेज के खतरे के बीच बच्चों की क्लास चलेगी। भागलपुर के सरकारी स्कूलों में कोई खास रौनक नहीं दिखी। शहर के डीवीसी चौक स्थित राजकीय कन्या मध्य विद्यालय में बच्चों की संख्या काफी कम देखी गई। यहां न सैनिटाइजेशन की व्यवस्था है और न ही मास्क की व्यवस्था की गई है। बच्चों का कहना है कि विद्यालय द्वारा अब तक मास्क नही दिया गया है। विद्यालय में कक्षा होने का समय 10 बजे था, जबकि शिक्षकों के आने समय 9 ही था लेकिन 9: 53 बजे तक शिक्षक नहीं दिखे। अभिभावकों का कहना है कि बच्चे 9: 30 बजे से ही स्कूल पहुंचने लगे थे लेकिन शिक्षक तय समय तक नहीं पहुंचे। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि समय पर नहीं आने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई होगी। शहर के कई प्राइवेट-प्राइमरी स्कूल आज बंद दिखे। शहर के डीएवी स्कूल के प्राइमरी सेक्शन में आज बच्चे नहीं दिखे। स्कूल प्रबंधन के अनुसार आज से ऑनलाइन एग्जाम शुरू हो गया है। मार्च के अंतिम सप्ताह तक रिजल्ट का प्रकाशन होगा। इसके बाद अप्रैल माह के दूसरे सप्ताह से वर्ग संचालन शुरू हो जाएगा। वहीं कार्मेल स्कूल के प्राइमरी सेक्शन में बच्चे नहीं दिखे। 5 से 6 मार्च के बीच रिजल्ट जारी किया जाएगा। गया में नामचीन प्राइवेट प्राइमरी स्कूल आज खुल गए। शहर के जीडी पब्लिक स्कूल, सिटी पब्लिक स्कूल, मदर इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल में बच्चे सुबह 8: 30 बजे से आने लगे। स्कूलों के अंदर सैनिटाइजर और मास्क की व्यवस्था की गई थी। हालांकि, जो बच्चे ऑटो से आ रहे थे वे बिना मास्क के ही नजर आए। ऑटो में सोशल डिस्टेंसिंग की भी धज्जियां उड़ती दिखी। यहीं नहीं कुछ अभिभावक भी बिना मास्क के बच्चों के साथ देखे गए। आरा के धोबीघटवां मोड़ के पास स्थित बचपन में बच्चों का स्वागत अलग तरीके से किया गया। स्कूल गेट बच्चों की आरती उतारी गई और तिलक लगाया गया। साथ ही स्कूल में कोविड गाइडलाइन का पालन कराया गया। वहीं शहर जीन पॉल पब्लिक स्कूल, संभावना पब्लिक स्कूल, चिल्ड्रेन एकादमी खुले दिखे। वहीं कई स्कूलों में प्राइमरी सेक्शन बच्चे आए तो हैं लेकिन उनकी संख्या काफी कम है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: