अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बानादाग रेलवे कोल साइडिंग पर ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प,
आंसू गैस के गोले दागे गये


हजारीबाग:- झारखंड में हजारीबाग जिले के बानादाग रेलवे कोल साइडिंग में रविवार की सुबह ग्रामीणों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प की खबर है। इस दौरान पुलिस को भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पानी की बौछार करना पड़ा और आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े। इस झड़प में पुलिस इंस्पेक्टर समेत कई ग्रामीण घायल हो गये।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बानादाग में कोल साइडिंग में पिछले कई दिनों से कोयले उठाने का काम बंद है और ग्रामीण अपनी विभिन्न मांगों को लेकर धरना पर बैठे। ग्रामीणों और रैयतों द्वारा चल रहे धरना प्रदर्शन को विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं का भी समर्थन मिल रहा है। धरना के कारण वाहनों की लंबी कतार लग गयी। यातायात सामान्य कराने को लेकर रविवार को मौके पर पहुंची पुलिस पर ग्रामीणों ने पथराव किया। जिसके बाद पुलिस को भी बल प्रयोग करना पड़ा। ग्रामीणों को हटाने के लिए पुलिस की तरफ से पानी की बौछार की गयी। बाद में ग्रामीणों को हटाने के लिए पुलिस की तरफ से पानी की बौछार की गयी और बल प्रयोग कर भीड़ को तितर-बितर कर दिया गया। इस दौरान आंसू गैस के गोले भी दागे गये। पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प में प्रदर्शनकारियों द्वारा दर्जनों गाड़ियों को टारगेट करते हुए पत्थरबाजी की गयी। इस दौरान कई पुलिस गाड़ियों पर पथराव किया गया। एंटी लैंड माइंस गाड़ी को भी ग्रामीणों ने तोड़ डाला। इस पथराव की घटना में लाखों रुपये का नुकसान हुआ है।
ग्रामीणों के साथ पथराव के बाद मौके पर अतिरिक्त बलों की तैनाती कर दी गयी है और फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण , परंतु पूरी तरह से नियंत्रित है। गौरतलब है कि ग्रामीण पिछले 5 दिनों से धरना पर बैठे थे । उनकी ओर से बानादाग कोल साइडिंग को जल्द से जल्द बंद करने की मांग की जा रही है। ग्रामीणों के धरना प्रदर्शन की वजह से बानादाग कोल साइडिंग से कोयले का उठाव पूरी तरह से बंद है।

%d bloggers like this: