अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सीआईए-प्रशिक्षित अफगान सहयोगियों को तालिबान से जान से मारने की धमकी मिली


वाशिंगटन:- अमेरिका की केन्द्रीय खुफिया एजेंसी (सीआईए) से प्रशिक्षित अफगान विशेष बलों के विशिष्ट समूह के सदस्यों को रूस में प्रतिबंधित तालिबानी आतंकवादियों की ओर से जान से मारने की धमकी मिली है। उन्होंने काबुल में अमेरिकी निकासी अभियान में मदद की थी।
वाशिंगटन पोस्ट ने अमेरिकी अधिकारियों का हवाला देते हुए यह जानकारी दी है।
विशिष्ट समूह को सीआईए ने आतंकवाद विरोधी अभियानों के लिए प्रशिक्षित किया था और उन्होंने वर्षों से अमेरिकी खुफिया एजेंसियों के साथ सहयोग किया था। अफगानिस्तान में तालिबान के प्रतिशोध को ध्यान में रखते हुए उन्होंने 2000 से अधिक अमेरिकी नागरिकों और स्थायी निवासियों के साथ-साथ लगभग 5550 स्थानीय दूतावास के कर्मचारियों, अन्य देश के नागरिकों और अफगानों को निकालने के लिए अमेरिकी सेना की मदद की थी।
अमेरिकी प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विशिष्ट समूह के सदस्य को अच्छी तरह प्रशिक्षित किया गया था और जब अफगानिस्तान की सेना अपने हथियार को डाल रहे थे और वहां से भाग रहे थे तब दक्षिणी अफगानिस्तान में तैनात अधिकांश विशेष बलों को लोगों को वहां से निकालने के अभियान में मदद करने के लिए काबुल में ‘अपने तरीके से लड़ना’ पड़ा।
उन्हाेंने कहा कि तालिबान ने विशष्ट समूह के कुछ सदस्यों की पहचान की है और उन्हें और उनके परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी भर संदेश भेजा है।
वाशिंगटन पोस्ट ने अफगानिस्तान में फंसे इन विशिष्ट समूह के सदस्यों की सटीक संख्या के बारे में नहीं बताया है लेकिन इस ओर ध्यान दिलाया कि पुनर्वास प्रक्रिया अत्यधिक धीमी थी।
तालिबान को अफगानिस्तान में कब्जे के बाद कई देशों ने अपने नागरिकों और राजनयिक मिशनों को अफगानिस्तान से निकालना शुरू कर दिया और कुछ ने अपने अफगान सहयोगियों को मदद करने का भी वादा किया है।

%d bloggers like this: