अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झरिया में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ बच्चे उतरे सड़कों पर

झरिया में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ बच्चे उतरे सड़कों पर

धनबाद:- झरिया में लगातार बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ यूथ कन्सेप्ट के बैनर तले और समाजसेवी अखलाख अहमद के नेतृत्व में बच्चों के साथ संस्था के कई सदस्य “युद्ध प्रदूषण के विरूद्ध” कार्य्रकम चलाया. बच्चे और संस्था के सदस्यों ने विकास भवन से कतरास मोड़ तक हाथों में झाड़ू लिए सड़क पर जमे धूल की सफाई की. इस कर्यक्रम में झरिया कोलफील्ड बचाव समिति के अध्यक्ष मुरारी शर्मा और पूर्व पार्षद अनूप साव भी मौजूद रहे. इस दौरान यूथ कन्सेप्ट के संयोजक सह समाजसेवी अखलाख अहमद ने कहा कि आज का यह कार्यक्रम राज्य सरकार, बीसीसीएल, जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की आंख खोलने के लिए किया जा रहा है. जिसमें बच्चों द्वारा सड़क किनारे पड़े कोयला के धूल को हटाया जा रहा है. क्योंकि यह धूल बीसीसीएल के अधिकारी और जिला प्रशासन को नहीं दिखती है. उन्होंने कहा कि शायद बच्चों को सड़क पर जमे धूल को हटाता देख जिला प्रशासन और बीसीसीएल के अधिकारियों की नींद खुले और झरिया में बढ़ते प्रदूषण पर अंकुश लगाएं.

झरिया में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ बच्चे उतरे सड़कों पर
झरिया में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ बच्चे उतरे सड़कों पर

‘युद्ध प्रदूषण के विरूद्ध ‘
उन्होंने यह भी कहा कि बीसीसीएल की लापरवाही के कारण आज झरिया में प्रदूषण के मामले देशभर में एक नम्बर पर आ गया है. इस बढ़ते प्रदूषण के कारण झरिया वासी कई गंभीर बीमारियों के शिकार हो रहे हैं. इस कार्यक्रम के माध्यम से झरिया में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ युद्ध छेड़ रहे हैं और यह अभियान लगातार जारी रहेगा. ताकि लोग ज्यादा से ज्यादा प्रदूषण को लेकर जागरूक हो सकें. वहीं झरिया कोलफील्ड बचाव समिति के अध्यक्ष मुरारी शर्मा ने कहा कि पूर्व उपायुक्त उमा शंकर सिंह और बीसीसीएल को प्रदूषण को रोकने के उपाय करने के लिए कई बार पत्र लिखा. लेकिन आज तक कोई कदम नहीं उठाया गया और ना ही कोई जवाब दिया गया. उन्होंने यह भी कहा कि हमें पूर्व विधायक सूर्यदेव सिंह जैसे जनप्रतिनिधियों की जरूरत है. उनका कहना है कि आज अगर वे होते, तो न तो किसी सरकार और ना ही जिला प्रशासन की जरूरत पड़ती. खुद ही प्रदूषण को रोकने के लिए बीसीसीएल पर भारी पड़ते. उनका कहना है कि वर्तमान जनप्रतिनिधि से भी उम्मीद टूट चुकी है.

झरिया में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ बच्चे उतरे सड़कों पर
झरिया में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ बच्चे उतरे सड़कों पर
इसे भी पढ़ें-भारत को खेलों की महाशक्ति बनाने का सफर जारी रहेगा : किरेन रीजीजू

झरिया को प्रदूषणमुक्त बनाने का प्रयास
पूर्व पार्षद अनूप साव ने कहा कि वर्ष 2019 से पूरे भारत में झरिया प्रदूषण के मामले में प्रथम स्थान पर है. झरिया को सबसे ज्यादा प्रदूषित करने में बीसीसील, आउटसोर्सिंग कंपनियों सहित यहां के जनप्रतिनिधियों का हाथ रहा है. जो इन खनन कम्पनियों के विरुद्ध मुखर नहीं होते. उन्होंने कहा कि कोयला ट्रान्सपोर्टिंग में लगे हाइवा ट्रक से झरिया में चारों तरफ प्रदूषण फैल रहा है. राज्य सरकार को अविलंब कर्रवाई कर झरिया जैसे घनी आबादी वाले शहर को प्रदूषित होने से बचाना चाहिए.

%d bloggers like this: