May 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बोकारो के बुंडू पंचायत को बाल हितैषी ग्राम पंचायत अवार्ड, 2021

पेटरवार प्रखंड का बुंडू पंचायत राज्य का एकमात्र पंचायत

बोकारो:- पंचायती राज्य मंत्रालय भारत सरकार की ओर से हर वर्ष ग्राम पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार की घोषणा की जाती है। इस घोषणा में दूसरी बार झारखंड राज्य के एकमात्र बोकारो जिले का बुंडू पंचायत को बाल हितैषी ग्राम पंचायत अवार्ड, 2021 के रूप में चयनित किया गया है। उक्त पुरस्कार की घोषणा आज 24 अप्रैल 2021 को एनआईसी कार्यालय के सभागार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं केंद्रीय ग्रामीण विकास, पंचायतीराज स्वच्छता एवं पेयजल मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के द्वारा नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के 13 राज्यों के मुखियाओ को पुरस्कार देने की घोषणा किया। उक्त पुरस्कार में झारखंड राज्य के बोकारो जिला अंतर्गत बुंडू पंचायत भी शामिल है। बोकारो जिले के पेटरवार प्रखंड का बुंडू पंचायत राज्य का एकमात्र पंचायत है, जिसे बाल हितैषी ग्राम पंचायत का राष्ट्रीय पुरस्कार से दूसरी बार सम्मानित किया गया है। उपायुक्त श्री राजेश सिंह ने उन्हें बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना किया। इस पंचायत के मुखिया श्री अजय सिंह है।उक्त पुरस्कार वर्ष 2019-20 के मूल्यांकन के लिए दिया गया है। पंचायती राज विभाग की ओर से देश के सभी राज्यों से एक-एक मुखिया ग्रुप में कुल 30 मुखिया का चयन किया गया। इनका चयन पंचायत में बाल विकास समेत अन्य क्षेत्रों में पंचायतों के विकास में अहम भूमिका निभाने के कारण हुआ है।
बुंडू मुखिया अजय सिंह ने बताया कि पंचायत के सभी लोगों की भागीदारी से यह मुकाम हासिल हुआ है। लगातार दूसरी बार बाल हितैषी पुरस्कार का मिलना पंचायत के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि बच्चों के बीच काम करना अच्छा लगता है। बच्चे आने वाले राष्ट्र के निर्माता हैं। बाल हितैषी पंचायत का राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त करना निश्चित तौर पर खुशी की बात है। आज फिर से एक बार बुंडू पंचायत की जीत हुई है। साथ ही आज फिर से एक बार बुंडू नंबर 1 बना है, जिसमें हमारे सभी स्वास्थ्यकर्मियों, शिक्षकों और पंचायत के सभी पदाधिकारियों का उल्लेखनीय योगदान रहा है। हर स्तर पर बच्चों की बेहतरी के लिए काम हुआ है । पंचायत में एक भी बच्चा ऐसा नही है जिसका टीकाकरण नियमित न हुआ हो, यानी सभी बच्चो का नियमित टीकाकरण होता है इसकी दर 100 फीसदी है। 98प्रतिशत सुरक्षित प्रसव होता है पंचायत में, जन्म मृत्यु के आंकड़े 2010 से 100प्रतिशत अपडेट है, धात्री महिलाओ का टीकाकरण 100प्रतिशत, गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण 100, ड्रॉप आउट की दर नगण्य है, बाल विवाह मुक्त पंचायत, स्कूली बच्चों की उपस्थिति, आंगनबाड़ी की क्रियाशीलता, स्कूलों में स्वच्छता एवं बेहतर उपलब्ध संसाधन, बेहतर ग्रामसभा एव बेहतर ग्रामीणों को उपस्थिति, स्कूलों में पर्याप्त शिक्षक एव उनकी उपस्थिति नियमित के आधार पर बुंडू पंचायत को अवार्ड देने की घोषणा हुई है।

हरवर्ष चयनित पंचायतों को पुरस्कृत किया जाता-
यह हर वर्ष 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार के तहत चयनित पंचायतों को पुरस्कृत किया जाता है, लेकिन इस समय देश मे कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए जिसके कारण कार्यक्रम स्थगित किया गया। साथ ही सभी पंचायतों को चयनित किया हुआ अवार्ड डाक के द्वारा भेजा गया, जिसे उक्त जिले के जिला दंडाधिकारी -सह- उपायुक्त के द्वारा प्रमाण-पत्र प्रदान किया जाएगा।
ज्ञातव्य हो कि अजय सिंह बुंडू ग्राम पंचायत के बारहवीं पास सरपंच हैं। उन्हें 2015 में सरपंच के रूप में चुना गया। अपने जबरदस्त प्रयासों के साथ, उन्होंने स्मार्ट विलेज अवार्ड जीता, जिसके तहत उक्त पंचायत का चौमुखी विकास हेतु एक करोड़ रुपया दिया गया। उन्होंने सरपंचों की राज्य स्तरीय प्रश्नोत्तरी में टॉप किया है। साथ ही उन्होंने छप्त्क् – च्त् से प्रशिक्षण प्राप्त किया, एक मास्टर ट्रेनर के रूप में विकसित किया और श्र – ज्ञ में प्रशिक्षण दिया। उनके नेतृत्व में जीपी बुंडू में स्कूली बच्चों और शून्य का कोई अंकुश नहीं है। कुपोषण का मामला। उन्होंने महिलाओं और किशोरियों के स्वास्थ्य और स्वच्छता सुनिश्चित करने और बाल विकास के प्रति उनके उल्लेखनीय प्रयासों के लिए आंगनवाड़ियों और स्कूलों में सेनेटरी पैड बैंकों में निः शुल्क स्थापित किया है।
वीडियो कांफ्रेंस के दौरान जिला पंचायती राज पदाधिकारी राज शेखर, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी धनंजय प्रताप सहित अन्य उपस्थित थे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: