March 4, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अमेरिका में रह रहे बिहारियों से की बात, कहा- उद्योग लगाने में मिलेगी हरसंभव मदद

पटना:- बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अमेरिका में रह रहे बिहार मूल के लोगों से राज्य में उद्योग लगाने की अपील करते हुए कहा कि इसके लिए उनकी सरकार हरसंभव मदद करेगी। नीतीश ने शनिवार को बिहार-झारखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका, काउंसुलेट जनरल ऑफ इंडिया, न्यूयॉर्क एवं बिहार फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में बिहार के अतीत, वर्तमान एवं भविष्य की संभावनाओं पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अमेरिका में रह रहे बिहार मूल के लोगों के साथ चर्चा की।
इस दौरान मुख्यमंत्री ने बिहार में उद्योग लगाने की अपील करते हुए कहा कि राज्य में उद्योग की कमी है और वह चाहते हैं कि आपके समुदाय से इस संबंध में मदद मिले। उन्होंने उद्योग लगाने वालों को हरसंभव मदद देने का भरोसा दिलाया और कहा, ‘‘यदि आप उद्योग लगाएंगे तो सरकार आपको जमीन उपलब्ध कराने के साथ ही हर तरह की सुविधा देंगी। हम सब एक परिवार के सदस्य हैं। आपकी किसी भी समस्या का समाधान करेंगे। आपके सुझावों पर हम अमल करेंगे।”
नीतीश कुमार ने बिहार मूल के लोगों से कहा कि अगली बैठक में उनको बिहार से संबंधित एक प्रस्तुतीकरण दिखाया जाएगा। उनसे सुझाव लेकर आगे काम किया जाएगा। वे पूरे इलाके का अध्ययन कर उन्हें बताएं कि क्या करना चाहिए। उन्हें पूरा भरोसा है कि यदि बिहार मूल के लोग दिलचस्पी लें तो बिहार बहुत आगे जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार को पुन: नई ऊंचाइयों तक ले जाना है, इसमें आप सबका सहयोग बहुत जरूरी होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में उनकी सरकार के पिछले 15 वर्षों के कार्यकाल में हर क्षेत्र में विकास के काम किए गए हैं। किसी भी काम में पीछे नहीं हैं। प्रदेश का लगातार विकास हो रहा है। राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में वृद्धि हुई है और प्रदेश की प्रति व्यक्ति आमदनी भी बढ़ी है। गांवों को सड़कों से जोड़ दिया गया है। टोलों को भी पक्की सड़कों से जोड़ा जा रहा है। राजधानी के किसी सुदूर इलाके से पटना पहुंचने के छह घंटे के लक्ष्य को प्राप्त कर लिया गया है। अब इस लक्ष्य को पांच घंटे का किया गया है। इसके लिए बड़े पैमाने पर सड़कों एवं पुल-पुलियों का निर्माण कराया जा रहा है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: