अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पेट्रोलियम मंत्री बदलने से काम नहीं चलेगा, पेट्रोल-डीजल की कीमत पर अंकुश जरूरी-रामेश्वर उरांव

पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोत्तरी के खिलाफ कांग्रेस का राज्यव्यापी हस्ताक्षर अभियान

रांची:- पेट्रोल-डीजल तथा रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी और महंगाई के खिलाफ देशव्यापी विरोध कार्यक्रम के तहत आज कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं द्वारा राज्यभर में पेट्रोल पंप के समक्ष हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव पेट्रोलियम पदार्थां और आवश्यक वस्तुओं की कीमत में वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन में खुद सड़क पर उतरे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने राजधानी रांची के बरियातु रोड पेट्रोल पंप के समक्ष हस्ताक्षर अभियान में हिस्सा लिया।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ0 रामेश्वर उरांव ने खुद सबसे पहले हस्ताक्षर किया। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत में डॉ0 उरांव ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार भले ही सत्ता के मद में चूर है, लेकिन जनता अब छोड़ेगी नहीं। उन्होंने कहा कि 1947 में देश को मिली आजादी के बाद से आज तक कांग्रेस ने जनहित को ध्यान में सभी कदम उठाया है और काम किया है। परंतु सत्ता के नशे में चूर केंद्र सरकार महंगाई पर अंकुश के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। यही कारण है कि जनता के आक्रोश को देखते हुए पेट्रोलियम मंत्री को बदल दिया गया है, परंतु अब भी पेट्रोल-डीजल की कीमत में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। लोग चीख-चीख कर महंगाई कम करने की मांग कर रहे है, पेट्रोल-डीजल की कीमत में वृद्धि होने से महंगाई बढ़ जाती है। इसका असर चावल, दाल, आटा, नमक और तेल समेत सभी आवश्यक वस्तुओं पर पड़ता है। लोगों की आमदनी घट रही है, लेकिन महंगाई बढ़ने से सभी त्रस्त है, परंतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसे महाराज की तरह व्यवहार कर रहे है, जैसे उन्हें जनता के दुःख दर्द से कोई लेना-देना ही नहीं है।
इस मौके पर कृषिमंत्री बादल ने किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए डीजल की कीमत में कमी करने और सब्सिडी देने की मांग की। उन्होंने कहा कि जनता की आवाज अब रायसीना की दीवारों को पार कर प्रधानमंत्री के कानों तक पहुंचेगी। यदि अब भी केंद्र सरकार ने मूल्य नियंत्रित करने को लेकर प्रयास नहीं किया, तो देश में आराजकता की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि देश की जनता हताश है,क्योंकि देश में टैक्स वसूली का राज है। पिछले एक साल में पेट्रोल-डीजल की कीमत में 67 बार बढ़ोत्तरी हुई है और एक सर्वे के अनुसार महामारी और महंगाई से परेशान ज्यादातर भारतीय अब यह मानने लगे है कि उनकी आमदनी घटेगी। करीब 79 प्रतिशत लोगों की आमदनी पिछले साल की तुलना में इस वर्ष घट चुकी है और मार्च 2020 से पहले की स्थिति अभी आने की कोई संभावना नजर नहीं आ रही। उन्होंने देश की आम जनता से आग्रह किया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में महंगाई के खिलाफ शुरू किये आंदोलन में आम जन सहयोग करें और जब तक बढ़ी हुई कीमत को वापस नहीं ले लिया जाता, तब तक आंदोलन जारी रहेगा।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की गलत नीतियों और उनकी सत्ता की भूख ने करोड़ों लोगां को दाने-दाने को तरसा दिया है। केंद्र में सात वर्षा से अधिक समय से रहने के दौरान भाजपा नेताओं ने कुछ ना किया, बस रोज नया जुमला दिया। वहीं एक अध्ययन के मुताबिक कोरोना के चलते मिडिल क्लास वाले भी राशन के लिए लाइन में लगने को मजबूर है। देश के 23 करोड़ लोगों की दैनिक आय 8 महीने में 375 रुपये से कम हुई।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डॉ0 राजेश गुप्ता छोटू ने बताया कि पार्टी के सभी सांसद, विधायक, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, और वरिष्ठ पदाधिकारी तथा विभिन्न मोर्चा-विभागों के नेता-कार्यकर्त्ता अपने-अपने क्षेत्र में सोशल डिस्टेसिंग और कोविड-19 को लेकर जारी गाइडलाइन का हस्ताक्षर अभियान में हिस्सा लिया। उन्होंने इस अभियान को जनभागीदारी से सफल बनाने के लिए सभी पार्टी नेताओं-कार्यकर्त्ताओं के प्रति आभार व्यक्त किया।

%d bloggers like this: