April 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

चंडीगढ़: पूरे विश्व की सबसे मेधावी छात्रा बनी भिवानी के उपायुक्त की बेटी शुभावी आर्य

चंडीगढ़:- विलक्षण और बहुमुखी प्रतिभा की धनी हरियाणा की बेटी शुभावी आर्य ने विश्व में देश व प्रदेश का गौरव बढ़ाने के साथ-साथ विश्व की मेधावी छात्रा होने का गौरव हासिल किया है। शुभावी विश्व की एकमात्र ऐसी छात्रा बनी हैं, जिन्होंने कंप्यूटर साईंस में पीएचडी के लिए अमेरिका की इंडियाना यूनिवर्सिटी मेंं आरक्षित केवल एक सीट पर करीब ढ़ाई करोड़ रुपए की स्कॉलरशिप पर दाखिला पाया है, जो कि अमेरिका की करीब तीन लाख 33 हजार डॉलर है। भिवानी के उपायुक्त एवं शुभावी के पिता जयबीर सिंह आर्य ने रविवार को बताया कि इससे पहले शुभावी ने कनेडियन इंटरनेशनल स्कूल, सिंगापुर के मिडल ईयर प्रोग्राम के तहत कक्षा 9 वीं और 10 वीं कक्षा के दौरान भी 63 हजार सिंगापुर डॉलर की स्कॉलरशिप हासिल की थी। शुभावी फिलहाल अमेरिका के मिनयापोलिस शहर में यूनिवर्सिटी ऑफ मिनीसोटा में कंप्यूटर साईंस एंड साईक्लॉजी की ड्यूल मेजर, बेचलर ऑफ साईंस में अंतिम वर्ष की स्टूडेंट है। शुभावी आर्य भिवानी के उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य की सुपुत्री है। उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने बताया कि कंप्यूटर साईंस में रिसर्च के लिए निर्धारित महज एक सीट के लिए पूरे विश्वभर से विद्यार्थियों ने भाग लिया था, जिसमें मेरिट के आधार पर शुभावी का चयन हुआ है। पांच वर्षीय इस कोर्स में शुभावी कंप्यूटर साईंस में अपनी दो साल की मास्टर डिग्री पूरी करने के साथ-साथ पीएचडी यानि रिसर्च भी करेंगी। इंडियाना यूनिवसिज़्टी अमेरिका के ब्लूमिंगटन शहर में स्थित है। यह यूनिवर्सिटी 100 साल पुरानी है। इस यूनिवर्सिटी में विश्वभर से 43 हजार विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैं। यह अमेरिका की विख्यात एवं प्रमुख यूनिवर्सिटी है, जहां पर विभिन्न क्षेत्रों के नौ नॉबेल पुरस्कार विजेता प्रोफेसर हैं, जो विद्यार्थियों को पढ़ाई करवा रहें हैं। शुभावी को कंप्यूटर साईंस में रिसर्च के लिए मिली दो करोड़ 50 लाख रुपए की स्कॉलरशिप में स्टाईफंड, ट्यूशन फीस, हेल्थ इंश्योरेंस और ट्रेवल अलाऊंस शामिल हैं। इससे पहले शुभावी ने कनेडियन इंटरनेशनल स्कूल, सिंगापुर के मिडल ईयर प्रोग्राम के तहत कक्षा 9 वीं और 10 वीं कक्षा के दौरान भी 63 हजार सिंगापुर डॉलर की स्कॉलरशिप हासिल की थी। यह स्कॉलरशिप कनेडियन इंटरनेशनल स्कूल सिंगापुर ने दी थी, जो कि दो वर्ष के लिए थी। यह स्कॉलरशिप 30 देशों के विद्यार्थियों की आयोजित एक संयुक्त परीक्षा में प्रथम स्थान हासिल करने पर शुभावी आर्य को मिली थी।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: