अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सलीमा टेटे के गांव में जश्न का माहौल


रांची:- टोक्यो ओलम्पिक में भारतीय महिला हॉकी टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने से हॉकी की नर्सरी सिमडेगा जिले में जश्न का माहौल है। लोग आपस में जीत की खुशियां बांट रहे हैं, वहीं चीयर फॉर इंडिया और चक दे इंडिया का नारा गुंजायमान हैं।
टोक्यो ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम का शुरुआती मुकाबलों में बेहतर प्रदर्शन नहीं हो पाने के बावजूद खिलाड़ियों ने हिम्मत नहीं हारी और संघर्ष जारी रखा। जिसका सुखद परिणाम ये रहा कि भारतीय महिला हॉकी टीम ने ऑस्ट्रेलिया जैसी काफी मजबूत टीम को धूल चटा डाली और लगभग 4 दशकों के बाद ओलंपिक में सेमीफाइनल राउंड में प्रवेश का इतिहास रच दिया। हॉकी कोच प्रतिमा बरवा का कहना है कि सभी देशवासियों की यह दुआ हैं कि इसी जोश और जज्बे के बल पर टीम गोल्ड मेडल लेकर आए।
सिमडेगा जिला हॉकी के अध्यक्ष मनोज कोनबेगी का भी मानना कि भारतीय महिला हॉकी टीम ने इतिहास रचा है। ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के मुकाबले जीत हासिल करना आसान नहीं था।
टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने गयी भारतीय महिला हॉकी टीम में झारखंड की दो खिलाड़ी शामिल है और राज्यवासियों को उम्मीद है कि इस बार महिला हॉकी टीम ओलंपिक पदक लेकर जरूर लौटेगी।

%d bloggers like this: