January 21, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

राज्यसभा चुनाव 2016 में गड़बड़ी का मामलाः निलंबित एडीजी 31अगस्त को रखेंगे अपना पक्ष

रांची:- राज्यसभा चुनाव 2016 में हुई गड़बड़ी मामले में एडीजी रैंक के आईपीएस अधिकारी अनुराग गुप्ता 31अगस्त को डीजीपी एमवी राव के सामने अपना पक्ष रखेंगे। चुनाव को प्रभावित करने को लेकर दर्ज उनके खिलाफ चलायी जा रही विभागीय कार्रवाई में उन्हें अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया गया है। पुलिस मुख्यालय की ओर से इस संबंध में एक पत्र भेजा गया है, जिसमें 31 अगस्त को मुख्यालय आकर अपनी बात रखने को कहा गया है। इसके अलावा गृह विभाग के अधिकारी अविनाश ठाकुर को भी दस्तावेज लेकर बुलाया गया है।
आईपीएस अनुराग गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने राज्यसभा चुनाव में वोट मैनेज करने की कोशिश की थी। उनकी बातचीत रिकॉर्ड कर ली गयी थी।
चुनाव आयोग के निर्देश पर झारखंड के गृह विभाग के अधिकारी अविनाश ठाकुर ने इस संबंध में जगन्नाथपुर थाना में मामला दर्ज कराया था। आईपीएस अधिकारी को निलंबित करने के बाद सरकार ने विभागीय कार्रवाई का आदेश दिया था। इसका संचालन पदाधिकारी होमगार्ड के डीजी एमबी राव को बनाया गया है, जो अभी राज्य के डीजीपी भी है।
गौरतलब है कि राज्यसभा चुनाव 2016 में हुई गड़बड़ी को लेकर तत्कालीन एडीजी अनुराग गुप्ता और तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास के प्रेस सलाहकार अजय कुमार के खिलाफ गंभीर आरोप लगे थे, जिसके बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर एडीजी अनुराग गुप्ता को निलंबित कर दिया गया था। वर्तमान में अनुराग गुप्ता बिना किसी विभाग के पुलिस मुख्यालय में योगदान दे रहे हैं। वर्ष 2016 में हुए राज्यसभा चुनाव के दौरान भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में वोट देने के लिए कांग्रेस की तत्कालीन विधायक निर्मला देवी को रुपयों का लालच दिया गया था। इसके साथ ही उनके पति योगेंद्र साव को भी धमकाया गया था। इससे संबंधित ऑडियो और वीडियो भी जारी हुआ था। इस पूरे मामले में एडीजी अनुराग गुप्ता की भूमिका संदिग्ध है। दो दिन पहले निर्मला देवी ने कोर्ट में मूल मंत्र जमा करवाया है, जिसकी फॉरेसिंग जांच रिपोर्ट मंगायी जाएगी।

Recent Posts

%d bloggers like this: