अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

किशनगंज समेत इन जिलों में कैंडिडेट नहीं कर पाएंगे चुनावी सभा, जानें कारण


पटना:- बिहार में पंचायत चुनाव का बिगुल बज चुका है. इसी कड़ी में सुरक्षा को ध्यान रखते हुए पंचायत चुनाव में प्रत्याशी एवं उनके समर्थक सीमा से सटे इलाकों में चुनावी सभा नहीं कर पाएंगे. ATS के ADJ रविंद्रन शंकरन ने पूर्णिया प्रक्षेत्र के आईजी और पूर्णिया, अररिया, कटिहार, किशनगंज के पुलिस अधीक्षक को निर्देश जारी कर दिए हैं. इसके अलावा उन्होंने जल्द ही सीमाई इलाकों के क्षेत्रों में जाकर बॉर्डर मीटिंग करने को लेकर आदेश दिया है.
पंचायत चुनाव को ध्यान में रखते हुए बीएसएफ के जवानों ने इंडो-नेपाल और बांग्लादेश बॉर्डर के आसपास एहतियात बरतने का काम शुरू दिया है. बॉर्डर पर नाकेबंदी का काम शुरू हो गया है. इसको लेकर पूर्णिया प्रक्षेत्र के आईजी सुरेश प्रसाद चौधरी जल्द ही रूपरेखा तैयार कर लेंगे.
इसके अलावा एटीएस के एडीजी ने किशनगंज और अररिया के पुलिस अधीक्षक को विशेष दिशा-निर्देश दिया है. दोनों पुलिस अधीक्षक को एसएसबी और बीएसएफ के वरीय अधिकारियों से संपर्क कर चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था और सीमाई इलाकों पर विशेष नजर रखने को कहा गया है.
वहीं, SSB के DIG एसके सारंगी ने इस मामले पर बताया कि पंचायत चुनाव को ध्यान में रखते हुए सीमाई इलाकों पर सख्ती बढ़ा दी गई है. संदिग्धों पर नजर रखी जा रही है. महिला जवानों को भी सीमाई इलाकों पर गश्त करने के लिए ड्यूटी लगाई जा रही है.

%d bloggers like this: