अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भाई दूज पर भाइयों ने बहनों के सामने नशा से दूर रहने की शपथ ली


औरंगाबाद:- बिहार में औरंगाबाद जिला विधिक सेवा प्राधिकार की ओर से आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत भाई दूज के मौके पर नशा मुक्ति जागरूकता अभियान के दौरान भाइयों ने बहनों के सामने शराब समेत अन्य नशीले पदार्थों से दूर रहने रहने की शपथ ली।
जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वावधान में गांधी जयंती दो अक्टूबर से शुरू अमृत महोत्सव के विविध कार्यक्रमों के अन्तर्गत शनिवार को भाई दूज के मौके पर नशा मुक्ति के लिए वृहद जागरूकता अभियान चलाया गया। इस दौरान भाइयों ने अपनी बहनों के सामने शपथ ली कि वे शराब समेत अन्य नशीले पदार्थों का सेवन कभी नहीं करेंगे। भाइयों ने शपथ लेते हुए कहा, “हम लोग अपनी बहन को भाई दूज पर नशा नहीं करने का उपहार देते हैं। भाई और बहन का प्रेम अटूट होता है इसलिए आज से हम नशा का त्याग करते हैं।”
औरंगाबाद जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव प्रणव शंकर ने बताया कि बिहार में जहरीली शराब से कई लोगों की हो रही मौत को देखते हुए यह निर्णय लिया गया कि इस बार भाई दूज पर नशा मुक्ति का अभियान चलाया जाए और इस दौरान बहनें अपने भाइयों से नशा से दूर रहने का उपहार मांगें। उन्होंने बताया कि प्राधिकार की इस अनूठी पहल पर जिले के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रो में विधि छात्र-छात्रा और पैनल अधिवक्ताओं के नेतृत्व में 30 टीम अर्धविधिक स्वयंसेवको को साथ लेकर घर-घर गई और सभी बहनों को शराब तथा अन्य नशा से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें अपने-अपने भाइयों से भाई दूज के उपहार में नशा मुक्त जीवन का प्रतिज्ञा लेने के लिए प्रेरित किया ।
श्री शंकर ने बताया कि बहनों ने प्राधिकार के कार्यकर्ताओं का अनुरोध सहर्ष स्वीकार करते हुए अपने-अपने भाइयों से उपहार में नशा से दूर रहने की शपथ लेने का आग्रह किया । इसे भाइयों ने भी सहर्ष स्वीकार करते हुए नशा से दूर रहने की शपथ अपनी बहनों के समक्ष ली ।
प्राधिकार के सचिव सह जिला न्यायाधीश प्रणव शंकर ने कहा कि जहरीली शराब से हाल में हुई मौत को देखते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकार आने वाले समय में लगातार नशा सेवन एवं उससे हो रही हानि पर अभियान चलाएगी। उन्होंने कहा कि अमृत महोत्सव के अंतर्गत चलाए जा रहे सभी कार्यक्रमों में नशा मुक्ति जागरूकता अभियान एक महत्वपूर्ण हिस्सा होगा।

%d bloggers like this: