अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

धारचूला में सड़क संपर्क बहाल करने में जुटा है सीमा सड़क संगठन


नयी दिल्ली:- सीमा सड़क संगठन के कर्मचारी अभूतपूर्व बारिश का सामना कर रहे उत्तराखंड के धारचूला में सड़क संपर्क बहाल करने के लिए दिन रात जुटे हुए हैं। पिछले महीने के अंतिम सप्ताह में पिथौरागढ़ जिले के दूर-दराज के धारचूला कस्बे को अभूतपूर्व बारिश का सामना करना पड़ा जिससे बाढ़ के हालात पैदा हो गये। गत 30 अगस्त को आकस्मिक बाढ़ और बादल फटने से पिथौरागढ़-तवाघाट राष्ट्रीय राजमार्ग का लगभग 500 मीटर हिस्सा पानी में बह गया। दोबाट इलाके में 98 से 102 किलोमीटर के बीच के हिस्से में सड़क पानी में बह गयी जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग के इस अहम हिस्से में सड़क-संपर्क टूट गया। सीमा सड़क संगठन ने आपात और गंभीर स्थिति से निपटने के लिये प्रोजेक्ट हीरक के एक विशेष दल को वहां तैनात किया है जिससे कि मरम्मत का काम फौरन शुरू कर रास्ते से मलबा हटाया जा सके। संगठन के 80 कर्मचारी मलबा हटाने वाली मशीनों और क्रेनों की मदद से सड़क संपर्क जल्द से जल्द बहाल करने में दिन-रात लगे हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को धारचूला का दौरा किया और राहत तथा बचाव कार्यों का जायजा लिया। संगठन के कार्यबल के कमांडर ने उन्हें इस बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस बीच टूटे हिस्से में पैदल चलने का रास्ता तैयार हो गया है। इसके अलावा संगठन के कर्मचारी मानवीय सहायता के तहत स्थानीय लोगों को खाने के पैकेट भी पहुंचा रहे हैं। चुनौतीपूर्ण हालात में सड़क को जल्द से जल्द खोलने के लिये संगठन के सभी अफसर और कर्मचारी मौके पर मौजूद हैं और दिन-रात काम में लगे हैं।

%d bloggers like this: