अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झारखंड विधानसभा के मुख्य द्वार पर भाजपा का भजन कीर्तन


नमाज के लिए कमरा आवंटित किये जाने के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन
रांची:- झारखंड विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो के नमाज कक्ष के फैसले के बाद से विधानसभा में जमकर हंगामा देखने को मिला है। बीजेपी विधायकों ने नमाज के लिए कमरा आवंटित करने के खिलाफ सोमवार को विधानसभा के मेन गेट पर भजन कीर्तन किया। विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने के पहले विपक्षी विधायकों ने नियोजन नीति और भाषा, रोजगार, विधि व्यवस्था समेत अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन किया।

भाजपा विधायक पूरी तैयारी के साथ ढोल-ताशा के साथ पहुंचे
विधानसभा में प्रदर्शन को लेकर भाजपा विधायक पूरी तैयारी के साथ ढोल, ताशा, मांदर के साथ पहुंचे थे। सभा की कार्यवाही शुरू होने के पहले सभी भाजपा विधायकों ने जोरदार तरीके से विरोध प्रदर्शन किया। वहीं देवघर के भाजपा विधायक नारायण दास भजन कीर्तन के दौरान नाचते हुए भी नजर आये,जबकि भाजपा के कई विधायक ढोल बजा रहे, तो कुछ ताशा, तो कुछ मांदर बजा रहे थे। विधानसभा अध्यक्ष द्वारा नमाज के लिए कमरा आवंटित किये जाने से नाराज भाजपा विधायक ईश्वर से सरकार को सदबुद्धि देने की प्रार्थना कर रहे थे। इस दौरान भाजपा की नीरा यादव साथी विधायकों को तिलक लगा रही थी, वहीं विधायक भानू प्रताप शाही सभी के बीच हनुमान चालीसा और सीता-राम लिखा हुआ पट्टा वितरित कर रहे थे।

सत्ताप़क्ष के सदस्यों भी किया कड़ा प्रतिवाद
भाजपा सदस्यों के इस तरह के विरोध प्रदर्शन का सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेएमएम की ओर से भी कड़ा प्रतिवाद किया गया। विधानसभा के मुख्य द्वार पर पत्रकारों से बातचीत में संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि नमाज अदा करने के लिए कक्षका आवंटन पहले से ही होता रहा है। झारखंड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ नेता और राज्य के पेयजल स्वच्छता मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष द्वारा आराधना कक्ष आवंटित किया गया है और इस पर भाजपा विधायकों द्वारा की जा रही राजनीति दुर्भाग्यपूर्ण है । उन्होंने कहा कि आज जब सदन में रोजगार और विकास तथा विभिन्न समस्याओं पर सरकार जवाब देने वाली थी तो भाजपा विधायकों ने जानबूझकर कार्यवाही को बाधित करने का काम किया।
झारखंड कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष और विधायक बंधु तिर्की ने कहा कि नमाज के लिए कमरा आवंटित करने का फैसला पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार के समय से ही लिया गया था। बिहार में भी नमाज अदा करने के लिए कमरा आवंटित है और अगर वहां बीजेपी नेता इस तरह की राजनीति करते हैं तो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उन्हें बाहर का रास्ता दिखा देंगे। इस दौरान कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि नमाज के लिए जो कमरा आवंटित किया गया है,उसे प्रार्थना सभा कक्ष का नाम दे दिया जाना चाहिए जहां सभी धर्मों के लोग आराधना कर सकेंगे।

%d bloggers like this: