April 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दो महीने की तेजी के बाद बिट क्वाइन में गिरावट, 30 हजार डॉलर से भी नीचे आया

नई दिल्ली:- पिछले साल 2020 में बिट क्वाइन की तेजी ने निवेशकों को आकर्षित किया था। हालांकि, अब इसमें गिरावट आ रही है। पिछले दो महीने में बिटक्वाइन रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच कर अब 30 हजार डॉलर (21.9 लाख रुपए) के स्तर से भी नीचे तक लुढ़क चुका है। दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin शुक्रवार को हांगकांग में 29,327 डॉलर (21.41 लाख डॉलर) के स्तर को छू लिया। बाजार के जानकारों ने निवेशकों को सावधान किया है कि अभी इसमें और गिरावट आ सकती है और यह पिछले साल में 300 फीसदी के रिटर्न को गंवा सकता है।
पिछले साल दिसंबर 2020 में बिटक्वाइन ने पहली बार 20 हजार डॉलर (14.60 लाख रुपए) के स्तर को पार किया था। इसके बाद भी इसकी तेजी थमी नहीं और इस साल जनवरी 2021 की शुरुआत में इसने 30 हजार डॉलर (21.9 लाख रुपए) के स्तर को पार किया था और तेजी से 42 हजार डॉलर (30.67 लाख रुपए) के स्तर की तरफ बढ़ रहा था। हालांकि इसके बाद इसमें तेजी से गिरावट आई।
ओएंडा यूरोप में एक सीनियर मार्केट एनालिस्ट क्रेग एरलम का कहना है कि बिटक्वाइन के भाव इस समय खतरनाक स्तर पर हैं। क्रेग के मुताबिक इसमें और गिरावट आने पर कम अवधि के निवेश के मामले में बिटक्वाइन के लिए बुरी खबर साबित हो सकती है। इसके अलावा यह अन्य क्रिप्टोकरेंसी के ट्रेड को प्रभावित कर सकती है। क्रेग का कहना है कि जिस तरह से बिटक्वाइन ने अपनी तेजी गंवाई है, ऐसे में अगर यह 20 हजार डॉलर (14.60 लाख रुपए) के भी स्तर को छू ले तो उन्हें आश्चर्य नहीं होगा।
मेनस्ट्रीम इंवेस्टमेंट बनता जा रहा बिटक्वाइन
बिटक्वाइन में तेजी से निवेश बढ़ रहा है, ऐसे में वह मुख्य धारा के निवेश का विकल्प बनता जा रहा है। हालांकि इसमें निवेश को लेकर कई निवेशक सशंकित रहते हैं। ग्रेस्केल इंवेस्टमेंट्स के मुताबिक उसके प्लेटफॉर्म पर अक्टूबर से दिसंबर 2020 तिमाही में करीब 300 करोड़ डॉलर (21.9 हजार करोड़ रुपए) का निवेश बिटक्वाइन में हुआ था।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: