अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अपराधियों और नक्सलियों के साथ दो-दो हाथ करेगी बिहार की पहली महिला कमांडो टीम


पटना:- बिहार पुलिस से चुनिंदा 92 चुनिंदा सिपाहियों को महाराष्ट्र में महिला कमांडो ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है. बिहार की पहली महिला कमांडो टीम मुख्यमंत्री की सुरक्षा के साथ-साथ वीआईपी सुरक्षा में भी तैनात रहेंगी. बता दें कि बिहार पुलिस की पूरी संख्या के अनुपात में 25 फीसदी महिला पुलिसकर्मी बिहार पुलिस में मौजूद हैं.
यह अनुपात अन्य राज्यों की तुलना में काफी ज्यादा है. बिहार पहला ऐसा राज्य है, जहां पुलिस विभाग में 25 फीसदी महिला पुलिसकर्मी हैं. जिन महिलाओं को सुरक्षा के लिए कभी दूसरे के भरोसे निर्भर रहना पड़ता था, अब वही बेटियां नक्सलियों और आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दे रही हैं.
अर्धसैनिक बलों के बाद बिहार देश का पहला राज्य बन गया है, जहां पर महिला कमांडो की टीम तैयार की गई है. दरअसल, बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस की विभिन्न बटालियन से चुनी गई महिला सिपाही को सीआरपीएफ सेंटर में ट्रेनिंग दिलवाई जा रही है.सीआरपीएफ सेंटर भेजने से पहले बिहार इनकी प्री कंडीशनिंग ट्रेनिंग भी कराई गई थी. पटना स्थित BMP5 और जमालपुर में कमांडो ट्रेनिंग के लिए तैयार करने के बाद इन्हें महाराष्ट्र ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है. जल्द ही सभी ट्रेनिंग पूरी होने के बाद बिहार लौटेंगी. उन्हें एटीएस, एसटीएफ और एसएसजी में प्रतिनियुक्ति किया जाएगा.
महाराष्ट्र के महिला कमांडो ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग प्राप्त करने के बाद इन महिला सिपाहियों को आतंकवादी हमले का मुकाबला करने से लेकर नक्सलियों अपराधियों के खिलाफ विशेष अभियान का हिस्सा बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री की सुरक्षा एसएसजी के पास होती है. इनमें से तैयार होकर आने वाली महिलाओं को भी एसएसजी का हिस्सा बनाया जाएगा.मुख्यमंत्री की सुरक्षा में भी इन्हें तैनात किया जा सकता है. महाराष्ट्र में ट्रेनिंग के दौरान इन्हें छोटे बड़े हमलों को नाकाम करने की विशेष प्रशिक्षण दी जा रही है. इसके अलावा सभी प्रकार के हथियारों की भी ट्रेनिंग दी जा रही है.बता दें कि इसी महीने के अंत तक महिला कमांडो की ट्रेनिंग कंप्लीट होगी. उसके बाद वे बिहार लौटेंगी. दरअसल, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पुलिस विभाग के साथ-साथ अन्य सरकारी कार्यालयों में महिलाओं के लिए 35% का आरक्षण दे चुके हैं. बिहार के सभी थानों में महिला सिपाही और अधिकारी तैनात किए गए हैं. इसके अलावा सड़कों से लेकर कार्यालय तक महिला पुलिस को तैनात किया गया है.

%d bloggers like this: