अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार : न बैंड, न बाजा, दुबई से आया दूल्हा, थाने में शादी कर निभाया वादा

गोपालगंज:- कहा जाता है कि अगर सच्चा प्यार हो तो वह प्रत्येक सीमाओं को तोड़कर अपनी मंजिल पा लेता है। ऐसा ही एक मामला बिहार के गोपालगंज जिले में देखने को मिला, जहां एक युवक अपने प्यार को पाने के लिए दुबई में नौकरी छोड़कर अपने गांव लौट आया और थाने में अपनी प्रेमिका के साथ परिणय सूत्र में बंध गए। गोपालगंज में भोरे थाना क्षेत्र के खजुरहां गांव के रहने वाले आनंद कुमार की बहन की शादी इमिलिया गांव में हुई थी। बहन के यहां आने जाने के क्रम में उसी गांव के मुन्ना मांझी की पुत्री संजना कुमारी से युवक को प्यार हो गया। इसी दौरान वह नौकरी करने के लिए दुबई चला गया, लेकिन वह अपनी प्रेमिका से यह वादा कर गया कि जल्द लौटकर परिणय सूत्र में बंधेंगे। इसके बाद भी बीच में भी वह दुबई से लौटकर प्रेमिका को अपना वादा भी याद दिलाया। इसी बीच, जब संजना के परिजनों को इस प्रेम प्रसंग की जानकारी मिली तो, उसने संजना के लिए वर की तलाश प्रारंभ कर दी। इसकी जानकारी संजना ने आनंद को दी। आनंद विदेश में इस खबर को पाकर सबकुछ छोड़ने का निर्णय ले लिया और नौकरी छोड़कर उसने अपने गांव आकर अपने प्यार को पाने को ठान लिया। आनंद ने आनन-फानन में दुबई में अपनी कंपनी की नौकरी से इस्तीफा दे दिया और रविवार को सीधे अपने गांव पहुंच गया, लेकिन वह अपने घर नहीं गया। आनंद सीधे भोरे थाना पहुंचा और अपनी प्रेमिका को भी थाना में बुलाकर पुलिस से मदद मांगी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सबसे पहले दोनों के परिजनों को थाना बुलाया गया और उन्हें समझाने की कोशिश की गई। भोरे के थाना प्रभारी सुभाष कुमार ने बताया कि दोनों बालिग हैं और दोनों शादी करने को तैयार थे। आनंद और संजना की थाना परिसर स्थित मंदिर में शादी करवाई गई। प्रेमीयुगल की इस शादी में जहां पुलिसकर्मी गवाह बने वहीं आसपास के लोगों ने उन्हें आशीर्वाद दिया। इस क्षेत्र में यह विवाह चर्चा का विषय बना हुआ है, जिसमें न बैंडबाजा था और न ही लोगों का हुजूम। दोनों के परिजनों और कुछ चुनिंदा लोगों की उपस्थिति में शादी संपन्न हुई। शादी के बाद दोनों के परिजनों ने भी एक-दूसरे को आशीर्वाद दिया। प्रेमीयुगल भी एक-दूसरे को पाकर प्रसन्न हैं।

%d bloggers like this: