किशनगंज :- रूईधासा स्थित किशनगंज क्लब में बंगाली समुदाय की बैठक में नए बिहार बंगाली कमेटी का गठन किया गया। इस कमेटी के गठन से बंगाली समुदाय में हर्ष है। पिछले कई महीनों से नई कमेटी के गठन को लेकर विचार-विमर्श चल रहा था। जिसे लेकर रविवार की रात्रि आठ बजे की बैठक में सर्वसम्मति से संपन्न हो गया। यह जानकारी बंगाली समुदाय के नई कमेटी के अध्यक्ष आशीष कुमार घोष ने दी।

उन्होंने कहा कि सर्वसम्मति से बंगाली समुदाय के नए कमेटी का गठन किया गया। जिससे कि समुदाय में उत्पन्न होने वाली सभी परेशानियों का समाधान समयानुसार निकाला जाएगा। नए कमेटी में उपाध्यक्ष पद पर रवि शंकर मजूमदार, युगल चंद्र राय, प्रदीप कुमार और विश्वजीत का चयन किया गया। जबकि सचिव पद पर सुभोजीत शेखर और कोषाध्यक्ष चितरंजन शर्मा को मनोनीत किया गया। वहीं सह सचिव पद पर रत्ना घोष, गोपाल डे, दिपांकर कर्मकार, संयुक्त सचिव पद पर प्रसंजित सरकार, सुभाशीष समाजदार, पवित्र विश्वास सहित प्रियरंजन शर्मा को मनोनीत किया गया। कमेटी चयन के लिए केंद्रीय कमेटी के प्रतिनिधि के रूप में प्रशांत चक्रवर्ती, अजय सान्याल, तारा शंकर चटर्जी और अमित कुमार भट्टाचार्य पहुंचे थे।

सूबे में बंगला भाषी को सरकार ने भाषाई अल्पसंख्यक का दर्जा दिया है। लेकिन बदलते समय के साथ बंगला भाषी बिहार के अनदेखी के कारण अपनी संस्कृति और विरासत खोने के कगार पर हैं। बिहार बंगाली कमेटी एक सामाजिक संगठन है, जो बंगाली समुदाय के भाषा, संस्कृति और विरासत को बचाने में अपना सहयोग देंगे। इस दौरान मुख्य रूप से शंभूनाथ मित्रा, अनिन्द्र सुंदर दत्त, हरि प्रसाद सिंह, दीपक कुमार साह, प्रहलाद सरकार, सुदिप्तो दास, आशुतोष सरकार, विश्वजीज मजुमदार, निलेश चंद्र घोष और अर्णव लाहिड़ी सहित कई लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: