अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भाजपा विधायकों का आचरण संसदीय परंपरा और विधायिका की मर्यादा के खिलाफ-आलमगीर


रांची:- संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने मॉनसून सत्र के पहले दिन शोक प्रस्ताव के दौरान मुख्य विपक्षी दल भाजपा सदस्यों द्वारा शोर शराबा किये जाने पर नाराजगी जाहिर की है। विधानसभा के बाहर निकलने पर पत्रकारों से बातचीत में आलमगीर आलम ने कहा कि भाजपा विधायकों का यह आचरण संसदीय परंपरा और विधायिका की मर्यादा के खिलाफ है।
भाजपा विधायक विरंची नारायण ने कहा कि आज सदन में शोक प्रस्ताव के दौरान जो कुछ हुआ, वह काफी दुःखद है। उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक दल के नेता का मसला करीब पौने दो साल से लंबित है , अच्छा होता है कि विधानसभा अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी को शोक प्रस्ताव पर अपनी बात रखने का अवसर देते।
कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि मॉनसून सत्र के पहले दिन जिस तरह से भाजपा विधायकों का आचरण रहा, उसे सभी ने देखा है। उन्होंने बाबूलाल मरांडी को सलाह दी कि वे तीसरा मोर्चा का गठन करें, क्योंकि भाजपा अब उन्हें कोई अवसर नहीं देना चाहती।
भाजपा विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि राज्य सरकार ने तृतीय और चतुर्थ वर्ग की नौकरियों में बाहरी लोगों के लिए रास्ता खोल दिया है। पार्टी इसके खिलाफ मुखर होकर आवाज उठाएगी।

%d bloggers like this: