March 1, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आईपीओ से पहले इस सरकारी कंपनी ने जुटाए 1398 करोड़ रुपए, 18 जनवरी से आप कर सकते हैं निवेश

नई दिल्ली:- साल 2020 में आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) बाजार गुलजार रहा। तरलता की बेहतर स्थिति तथा निवेशकों की उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया के चलते कंपनियों ने पिछले साल आईपीओ के जरिए करोड़ों रुपए जुटाए हैं। 2021 में भी आईपीओ बाजार मजबूत रहने की उम्मीद है। साल 2021 का पहला आईपीओ इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन (आईआरएफसी) लेकर आ रही है। कंपनी ने अपने से पहले शुक्रवार को एंकर निवेशकों से करीब 1,398 करोड़ रुपए जुटाए हैं।
जारी किए गए 3,34,563,007 इक्विटी शेयर
इस संदर्भ में कंपनी ने एक बयान में कहा कि कुल 31 एंकर निवेशकों को 26 रुपए प्रति शेयर की दर से 3,34,563,007 इक्विटी शेयर जारी किए गए। आईआरएफसी का निर्गम सोमवार को खुलेगा। इस मूल्य पर आईआरएफसी ने निवेशकों से कुल 1,398.63 करोड़ रुपए जुटाए। इन एंकर निवेशकों में एचडीएफसी ट्रस्टी कंपनी लिमिटेड, निप्पॉन लाइफ इंडिया ट्रस्टी लिमिटेड, सिंगापुर सरकार, कुवैत इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी फंड, कोटक महिंद्रा (इंटरनेशनल) लिमिटेड, गोल्डमैन सैक्स (सिंगापुर) पीटीई और टाटा एआईजी जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड शामिल हैं।
18 से 20 जनवरी तक निवेश का आईपीओ
ऐसा पहली बार होगा जब किसी पब्लिक सेक्टर की नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (एनबीएफसी) का आईपीओ आएगा। निवेशकों के लिए यह आईपीओ 18 जनवरी से 20 जनवरी तक खुला रहेगा। कंपनी की बाजार से 4600 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है। आईपीओ के लिए कंपनी ने प्राइस बैंड 25 रुपए से 26 रुपए प्रति शेयर तय किया है।

575 शेयरों का होगा एक लॉट

मालूम हो कि इस आईपीओ में 178.20 करोड़ शेयर होंगे। 178.20 करोड़ शेयरों में से 118.80 करोड़ नए शेयर जारी किए जाएंगे और सरकार 59.40 करोड़ रुपए की बिक्री पेशकश लाएगी। आईपीओ के लिए 575 शेयरों का एक लॉट होगा। निवेशक न्यूनतम एक लॉट से लेकर अधिकतम 13 लॉट के लिए आईपीओ में पैसा लगा सकते हैं। इस आईपीओ में 50 फीसदी इश्यू क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (क्यूआईबी) के लिए है, 15 फीसदी हिस्सा नॉन इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स के लिए और 35 फीसदी हिस्सा रिटेल निवशकों के लिए है।

क्या है आईपीओ?

जब भी कोई कंपनी या सरकार पहली बार आम लोगों के सामने कुछ शेयर बेचने का प्रस्ताव रखती है तो इस प्रक्रिया को प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) कहा जाता है। मतलब एलआईसी के आईपीओ को सरकार आम लोगों के लिए बाजार में रखेगी। इसके बाद लोग एलआईसी में शेयर के जरिए हिस्सेदारी खरीद सकेंगे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: