March 1, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

वायरस हो या बार्डर हर चुनौती से निपटने में सक्षम है देश: मोदी

नयी दिल्ली:- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि देश तेजी से विश्व मानचित्र पर अपनी छाप छोड़ रहा है और वह किसी भी स्थिति से निपटने में पूरी तरह सक्षम है चाहे वह वायरस हो या बार्डर पर उत्पन्न चुनौती। श्री मोदी ने गुरूवार को यहां दिल्ली छावनी के करियप्पा परेड मैदान में राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) की रैली के बाद कैडेटों को संबाेधित करते हुए चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में दस महीने से भी अधिक समय से चले आ रहे सैन्य गतिरोध का परोक्ष रूप से उल्लेख करते हुए कहा कि भारतीय सेना ने चीन के इरादों को ध्वस्त कर दिया। उन्होंने कहा, “ बीते साल भारत ने दिखाया है कि वायरस हो या बॉर्डर की चुनौती, भारत अपनी रक्षा के लिए पूरी मजबूती से हर कदम उठाने में सक्षम है। वैक्सीन का सुरक्षा कवच हो या फिर भारत को चुनौती देने वालों के इरादों को आधुनिक मिसाइल से ध्वस्त करना, भारत हर मोर्चे पर समर्थ है। ” उन्होंने कहा कि सरकार सशस्त्र सेनाओं को दुनिया भर में सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए हर कदम उठा रही है और हमारी सेनाओं के पास बेहतरीन ‘वार मशीन’ हैं। बुधवार को फ्रांस से तीन राफेल लड़ाकू विमानों की ताजा खेप के देश में पहुंचने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इन विमानों में आकाश में उडान के दौरान ही ईंधन भरा गया और इसमें हमारे मित्र दिशों संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब और ग्रीस ने सहयोग किया। इससे दुनिया में भारत के बढते महत्व का पता चलता है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने सेनाओं की जरूरतों को देश में ही पूरा करने का बीड़ा उठाया है। स्वदेशी तेजस लड़ाकू विमान का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि इसकी धमक आकाश से समुद्र तक सुनाई दे रही है और अब वायु सेना को 80 से भी अधिक तेजस विमान दिये जायेंगे। जल्द ही भारत रक्षा उत्पादों के आयातक से निर्यातक की भूमिका में दिखाई देगा। कोरोना के कालखंड को चुनौतीपूर्ण बताते हुए श्री मोदी ने कहा कि यह अपने साथ अवसर भी लेकर आया है देश के लिए कुछ कर गुजरने का , उसे आत्मनिर्भर बनाने का। उन्होंने कहा , “ इन सभी लक्ष्यों की प्रप्ति में भारत की युवा शक्ति की भूमिका और युवा शक्ति का योगदान सबसे महत्वपूर्ण है। आप सभी के भीतर मैं एक राष्ट्रसेवक के साथ ही एक राष्ट्र रक्षक भी देखता हूं।”
एनसीसी का देश निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान बताते हुए उन्होंने कहा , “ ये वर्ष एक कैडेट के रूप में, भारतीय नागरिक के रूप में नए संकल्प लेने का वर्ष है। देश के लिए संकल्प लेने का वर्ष है, देश के लिए नए सपने लेकर चल पड़ने का वर्ष है।”
एनसीसी में लड़कियों की बढती भागीदारी का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि पिछले वर्षों में इनकी हिस्सेदारी 35 प्रतिशत बढी है। सेनाओं में हर मोर्चे को लड़कियों के लिए खोला जा रहा है। उन्होंने कहा कि वह देश की सभी लड़कियों से आग्रह करते हैं कि वे इन अवसरों का फायदा उठायें। देश को आपकी बहादुरी की जरूरत है। उन्होंने कहा , “ भारत की वीर बेटियां हर मोर्चे पर शत्रु से लोहा लेने के लिए आज भी मोर्चे पर डटी हैं। आपके शौर्य की देश को जरूरत है और नई बुलंदी आपका इंतजार कर रही हैं। मैं आपमें भविष्य के अधिकारी देख रहा हूं।”
प्रधानमंत्री ने कहा कि एनसीसी सीमावर्ती क्षेत्रों तथा तटवर्ती क्षेत्रों में एनसीसी की भूमिका और जिम्मेदारी को निरंतर बढाया जा रहा है। सरकार ने एनसीसी प्रशिक्षण के लिए फायरिंग सिमुलेटर्स की संख्या एक से बढाकर 98 कर दी है। माइक्रोलाइट फ्लाई सिमुलेटर्स की संख्या भी पांच से बढाकर 44 और रोविंग सिमुलेटर्स की संख्या 11 से बढाकर 60 कर दी गयी है। इससे प्रशिक्षण की गुणवत्ता में काफी सुधार आयेगा।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: