January 26, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बल्लेबाजी कोच राठौड़ ने बताया इन खिलाड़ियों को मिल सकता टीम में मौका, बुमराह पर सस्पेंस बरकरार

ब्रिसबेन:- भारतीय बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने कहा कि जसप्रीत बुमराह की पेट की मांसपेशियों में खिंचाव पर नजर रखी जा रही है लेकिन दौरा करने वाली टीम में चोटिल खिलाड़ियों की बढ़ती संख्या के बाद आस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम टेस्ट के लिये उन्होंने बड़े बदलाव का संकेत दिया। भारतीय टीम प्रबंधन आधे फिट बुमराह को भी खिलाकर जोखिम नहीं लेगा क्योंकि वह इस तेज गेंदबाज को विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की निर्णायक पांच फरवरी से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू होने वाली घरेलू श्रृंखला में खिलाना चाहता है। राठौड़ ने कहा कि चोटों की अब भी निगरानी की जा रही है। हमारा मेडिकल स्टॉफ खिलाड़ियों के साथ काम कर रहा है। मैं अभी इस स्थिति में नहीं हूं कि इस समय टिप्पणी कर सकूं। हम उन्हें उतना समय देना चाहेंगे जितना दे सकते हैं और कल सुबह ही आपको पता चल पायेगा कि अंतिम एकादश में कौन खेलेगा। अश्विन और सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल भी पूरी तरह फिट नहीं हैं। दिलचस्प बात है कि राठौड़ की अंतिम एकादश पर एक अन्य टिप्पणी में उन्होंने कहा था कि मैदान पर जो भी खिलाड़ी उतरेंगे, वे भारत के लिए खेलने के हकदार होंगे। उन्होंने कहा कि चोट के साथ या बिना चोटों के, भारत जो अंतिम एकादश मैदान पर उतारेगा, वे सभी इसमें होने के हकदार होंगे। ये सभी टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका पाने के हकदार हैं और अगर वे अपनी काबिलियत के हिसाब से खेलते हैं तो मुझे नहीं दिखता कि वे अच्छा क्यों नहीं करेंगे। वाशिंगटन सुंदर और शारदुल ठाकुर दोनों खेलने की संभावना है। इसलिए हम फिर से अपनी प्रक्रिया और अपने खिलाड़ियों का समर्थन कर रहे हैं। जहां तक बुमराह पर सही जानकारी मुहैया करने का संबंध है तो ऐसा लगता है कि टीम प्रबंधन की मिलकर रणनीति यही है कि आस्ट्रेलिया खिलाड़ियों को यह महसूस नहीं कराया जाये कि उनके लिये सबसे खतरनाक खिलाड़ी दौड़ से पहले ही बाहर है। राठौड़ ने कहा कि मेडिकल टीम उसकी देखरेख कर रही है इसलिए हम कल सुबह तक का इंतजार करेंगे कि वह खेलने के लिये फिट है या नहीं। जब उनसे घुमाकर पूछा गया तो क्या भारत आधे फिट गेंदबाज को मैदान पर उतारने का खतरा ले सकता है तो राठौड़ ने जवाब दिया, वह तभी खेलेगा जब वह फिट होगा। राठौड़ ने कहा कि मेडिकल टीम से मिली सलाह पर निर्भर करता है कि हम उसे खिलाने पर फैसला करेंगे या नहीं। अगर वह खेल सकता है तो वह खेलेगा और वह नहीं खेल सकता तो वह नहीं खेलेगा। यह पूछने पर कि क्या ऋषभ पंत और रिद्धिमान साहा दोनों को खेलने का मौका मिलेगा तो उन्होंने कहा कि अब भी चोटों की काफी चिंताएं हैं। उन पर नजर रखे हुए हैं और रिहैब प्रक्रिया में वे कैसा करते हैं, इन सभी सवालों का जवाब कल सुबह ही मिल सकता है जब हमें पता चलेगा कि इस मैच में अंतिम एकादश में कौन खेलने जा रहा है।

Recent Posts

%d bloggers like this: