बदायूं:- उत्तर प्रदेश के बदायूं में वजीरगंज इलाके में 22 अगस्त को हुई किसान ताराचंद की हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए गुरुवार को बताया कि मृतक की हत्या उसके अपने ही बेटे ने कर दी थी।
पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सिद्धार्थ वर्मा ने बताया कि इस मामले की पड़ताल में शिकायतकर्ता बेटा ही मृतक ताराचंद की हत्या में शामिल पाया गया है। पुलिस ने इसके पीछे वजह ताराचंद पर कई लोगों का कर्ज होना बताया।
पुलिस का कहना है कि ताराचंद जमीन बेचकर यह कर्ज चुकाने की तैयारी में था। जमीन हाथ से जाने के डर से बेटे ने ही 22 अगस्त की रात में अपने पिता की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। आरोपी की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त कुल्हाड़ी भी पुलिस ने बरामद कर ली है।
पुलिस के अनुसार वजीरगंज के लखनपुरा गांव में रहने वाले ताराचंद (51) की सिर में धारदार हथियार से प्रहार कर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में ताराचंद के बेटे संजीव की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। मामले की तफ्तीश में किसी स्तर पर कोई रंजिश की बात सामने नहीं आई। महज इतना ही पता लगा कि गांव के कई लोगों का ताराचंद पर हजारों रुपये का कर्ज था।
पुलिस ने बारीकी से छानबीन की तो हत्या का पर्दाफाश हुआ। आरोपी को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ की तो उसने पिता का कत्ल करने का गुनाह कबूल लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने स्पष्ट कहा कि अगर पिता जमीन बेच देता तो उसकी गुजर बसर का कोई साधन नहीं बचता।

Leave a Reply

%d bloggers like this: