May 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सेना ने ‘कोविड वार’ से निपटने को संभाला मोर्चा, किये चौकस इंतजाम

सेना ने दिल्ली छावनी के बेस हॉस्पिटल को कोविड अस्पताल में बदला

अस्पताल ने 340 कोविड बेड बनाये गए जिनमें 250 ऑक्सीजन से हैं लैस

अभी बढ़ेंगे 650 कोविड बिस्तर, 30 अप्रैल तक चालू होंगे 450 आक्सीजन बेड

नई दिल्ली:- भारतीय सेना के पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों के बीच भी कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए सेना अपनी चिकित्सा क्षमताओं को बढ़ाने के लिए अनेक कदम उठा रही है। भारतीय सेना ने कई स्थानों पर बुजुर्गों और उनके आश्रितों को व्यापक चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए युद्धस्तर पर कई कोविड सुविधाओं का निर्माण किया है। दिल्ली छावनी के बेस हॉस्पिटल को कोविड अस्पताल में बदल दिया गया है। सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद का कहना है कि भारतीय सेना का पूर्व सैनिक निदेशालय (ईसीएचएस) एरिया व सब एरिया मुख्यालय के साथ मिलकर पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों से लगातार समन्वय बनाए है। कोविड से प्रभावित पूर्व सैनिकों को विभिन्न अस्पतालों में चिकित्सा सलाह और भर्ती कराने के लिए जरूरी सहायता दी जा रही है। दिल्ली कैंट स्थित बेस अस्पताल और सभी सैन्य स्टेशनों पर सैन्य अस्पतालों की बेड क्षमता बढ़ाई जा रही है ताकि ज्यादा से ज्यादा पूर्व सैनिकों को समायोजित किया जा सके। सेना की ओर से उन्हें भरोसा दिलाया गया है कि वे किसी भी प्रकार की सहायता के लिए सेना के निकटतम अस्पतालों से संपर्क कर सकते हैं। यह भी अनुरोध किया गया है कि सभी सुरक्षा सावधानियों और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए महामारी का दृढ़ता से मुकाबला करते हुए घर पर रहें। उन्होंने बताया कि विभिन्न सैन्य स्टेशनों के कर्नल पूर्व सैनिकों को कोविड स्थिति पर ईएसएम सेल के साथ संपर्क बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं और चौबीस घंटे प्रत्येक स्टेशन पर आपातकालीन नंबरों को सक्रिय किया गया है। भारतीय सेना की सभी कोविड हेल्पलाइनों की जानकारी www.indianarmyveterans.gov.in वेबसाइट पर उपलब्ध है। भारतीय सेना लगातार कोविड केस बढ़ने के कारण जरूरतों को पूरा करने के लिए चिकित्सा क्षमता बढ़ाने के प्रयास जारी रखेगी। वर्तमान संकट में पूर्व सैनिकों से यह भी अनुरोध किया गया है कि वे सैन्य चिकित्सा पेशेवरों को प्रोत्साहित करें ताकि वे अपने कर्तव्यों को पूरी निष्ठा और ईमानदारी से निभा सकें।
प्रवक्ता ने बताया कि दिल्ली छावनी के बेस हॉस्पिटल को कोविड अस्पताल में बदल दिया गया है। कोविड की दूसरी लहर की शुरुआत में बेस अस्पताल ने कोविड मरीजों के लिए 340 बेड बनाये हैं जिनमें से 250 बेड ऑक्सीजन युक्त हैं। इसके बाद 650 कोविड बिस्तरों की क्षमता का विस्तार किया जा रहा है जिसमें 450 बेड 30 अप्रैल तक ऑक्सीजन युक्त हो जाएंगे। गहन देखभाल इकाई (आईसीयू) को भी 29 अप्रैल तक 12 बिस्तरों से बढ़ाकर 35 आईसीयू बिस्तरों तक किया जा रहा है। विस्तार के अगले चरण में जून के दूसरे सप्ताह तक 900 ऑक्सीजन वाले बिस्तर बढ़ाये जाने की योजना है। उन्होंने बताया कि मरीजों की देखभाल के लिए विशेषज्ञों की मेडिकल टीम के साथ कोविड ओपीडी चौबीसों घंटे काम कर रही है। यह टीम प्रतिदिन लगभग 500 रोगियों की जांच करके उन्हें उचित चिकित्सीय सलाह भी देती है। कोविड टेली-कंसल्टेंसी और सूचना प्रबंधन सेल 24×7 चिकित्सा सलाह प्रदान कर रहा है। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए 011-25683580, 011-25683585, 011-25683581 और आर्मी लाइन के माध्यम से 37176 नंबरों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: