May 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आर्चर का ना होना बड़ा झटका लेकिन त्यागी, सकारिया जैसे युवा तेज गेंदबाजों पर भरोसा: संगकारा

मुंबई:- चोटिल तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर की गैरमौजूदगी को बड़ा झटका करार देते हुए राजस्थान रॉयल्स के नये क्रिकेट निदेशक कुमार संगकारा ने उम्मीद जतायी कि युवा भारतीय तेज गेंदबाज आगामी इंडियन प्रीमियर लीग में इस मौकों को भुनाने में सफल रहेंगे। हाथ में चोट के बाद भी भारत दौरे पर गेंदबाजी करने वाले इंग्लैंड के स्टार गेंदबाज आर्चर सर्जरी के बाद अभी आराम कर रहा है। इस बात का अभी पता नहीं चला है कि वह आईपीएल के बाद के मैचों के लिए उपलब्ध रहेंगे या नहीं।
संगकारा ने सोमवार को पंजाब किंग्स के खिलाफ होने वाले मैच से पहले ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ संजू (कप्तान संजू सैमसन) और मैं , दोनों सहमत हैं कि यह हमारे लिए एक बड़ा झटका है। जोफ्रा हमारी टीम का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है और उसका न होना दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन यह वास्तविकता है। हमें इसे ध्यान में रखकर काम करना होगा और उसी मुताबिक योजना बनानी होगी।’’
श्रीलंका के इस पूर्व कप्तान को उम्मीद है कि आर्चर बाद के मैचों के लिए उपलब्ध होंगे और ‘आईपीएल में अपनी भूमिका निभाएंगे।’
पिछले कुछ वर्षों से तेज गेंदबाजी राजस्थान रॉयल्स के लिए कमजोर कड़ी रही है और उनके सबसे अनुभवी गेंदबाज जयदेव उनादकट दमदार प्रदर्शन करने में नाकाम रहे है।
उनादकट के अलावा, उनके पास बाएं हाथ के चेतन सकारिया और बेहद प्रतिभाशाली कार्तिक त्यागी का भी विकल्प है। आईपीएल के कई सत्रों में खेल चुके संगकारा ने कहा,‘‘ अनुभवहीनता शायद आपके पक्ष में काम कर सकती है क्योंकि विरोधी टीम को आपके बारे में ज्यादा पता नहीं है। आईपीएल में तेज गेंदबाजी करना आसान काम नहीं है और हमने कल (दिल्ली कैपिटल बनाम चेन्नई सुपर किंग्स) भी इसे देखा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ ज्यादातर विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छे हैं। ऐसे में आपके पास कौशल होना चाहिये। हमारे पास कार्तिक त्यागी हैं, जिन्होंने पिछले सत्र में काफी अच्छा प्रदर्शन किया था और इस साल हमारे पास कुलदीप यादव (जूनियर) और चेतन सकारिया के रूप में नये अतिरिक्त तेज गेंदबाज हैं।’’ संगकारा के लिए यह जरूरी है कि इन युवाओं को मैच की परिस्थितियों को समझने और उसके अनुसार गेंदबाजी करने के लिए तैयार किया जाए। राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन राष्ट्रीय टीम के लिए मिले मौकों को भुनाने में असफल रहे लेकिन सैमसन और हरफनमौला राहुल तेवतिया अगर अपनी क्षमता के मुताबिक प्रदर्शन करते है तो राष्ट्रीय टीम में जगह बना सकते है। तेवतिया को इंग्लैंड के खिलाफ टी20 श्रृंखला के टीम में चुना गया था लेकिन फिटनेस टेस्ट में विफल रहने के कारण उन्हें मौका नहीं मिला। संगकारा ने कहा, ‘‘ दबाव हमेशा रहता है। चाहे वह संजू हो या राहुल (तेवतिया), यह वास्तविकता है कि वे आप से हमेशा अपेक्षाएँ रहेंगी और आपको दबाव का सामना करना होगा। हर किसी के पास इससे निपटने का तरीका होता है।’’

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: