अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने किया सीएम का पुतला दहन


बिहारशरीफ:- सीएम नीतीश कुमार और उद्योग मंत्री शहनवाज हुसैन का खेल के कारण ही दलित और अल्पसंख्यक उद्योग धंधे के लिए लोन में फेल हो रहे हैं। उद्योग लोन महज छलावा है। इसके लिए लोगों का चयन कर लिया जाता है। लेकिन, समय पर राशि नहीं दी जाती।
दलितों व अल्पसंख्यकों को नजरअंदाज किया जाता है।नालंदा जिला राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राजकुमार पासवान ने अस्पताल चौक पर शुक्रवार को इसके विरोध में सीएम व उद्योग मंत्री का पुतला दहन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उद्यमी योजना महज दिखावा है। गरीबों के लिए यह योजना नहीं है। बिहार में 16 हजार आवेदकों का चयन किया गया है। इसमें दलितों और अल्पसंख्यकों की संख्या नगण्य है। बिहार सरकार ने इस योजना में अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति के लिए प्रावधान किया था। वर्ष 2018 में बिहार में सात हजार एससी/एसटी को ऋण मुहैया कराया था।उन्होंने कहा कि बाबुओं की मनमानी के चलते पीएमईजीपी के तहत मिलने वाली 10 लाख राशि भी अब तक नहीं मिली है। सरकार इन योजनाओं में 50 फीसद का लाभ दलित और अल्पसंख्यक वर्ग से जुड़े लोगों को दे। अन्यथा आंदोलन जारी रहेगा।

%d bloggers like this: