January 24, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आनंद महिंद्रा और नवीन जिंदल ने भी व्हाट्सऐप को कहा बाय-बाय

नयी दिल्ली:- नई पॉलिसी की वजह से लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप के खिलाफ दुनियाभर में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। इससे यूजर्स की निजी जानकारी को लेकर चिंता जताई जा रही है। भारत में भी कई कंपनियों और दिग्गज कॉरपोरेट हस्तियों ने व्हाट्सऐप छोड़कर सिग्नल (Signal) जैसे दूसरे मैसेजिंग ऐप का रुख करना शुरू कर दिया है। इनमें नए दौर की स्टार्टअप कंपनियां और पुराने कॉरपोरेट तथा उनके सीनियर लीडर शामिल हैं। ये लोग अब अपने वर्क चैट और इंटरनल डॉक्युमेंट्स को शेयर करने के लिए सिग्नल का इस्तेमाल कर रहे हैं।
नवीन जिंदल की अगुवाई वाली कंपनी जिंदल स्टील एंड पावर भी व्हाट्सऐप को बाय-बाय कह रही है। महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने हाल में सिग्नल इनस्टॉल किया है। टाटा ग्रुप के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन पिछले कुछ समय से सिग्नल का इस्तेमाल कर रहे हैं। साथ ही ग्रुप के कई सीनियर अधिकारी भी इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे हैं।
मस्क ने बढ़ाई परेशानी
दुनिया से सबसे अमीर शख्स एलन मस्क ने फेसबुक और इसके फाउंडर मार्क जकरबर्ग की मुश्किलें बढ़ा दी है। मस्क ने लोगों से व्हाट्सऐप और फेसबुक छोड़कर मैसेजिंग ऐप सिग्नल अपनाने की अपील की है। इसके बाद सिग्नल की लोकप्रियता अचानक बढ़ गई है। टेस्ला के फाउंडर ने लोगों से व्हाट्सऐप और फेसबुक के बजाय ज्यादा एनक्रिप्टेड सुविधा वाले ऐप अपनाने को कहा है। जब उनके फॉलोअर्स ने सुरक्षित विकल्प के बारे में पूछा तो मस्क ने खासतौर पर सिग्नल का जिक्र किया।
व्हाट्सऐप का डाउनलोड हुआ कम
पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा ने कहा कि उन्होंने अपनी टीम के सभी लोगों को वर्क कम्युनिकेशन के लिए व्हाट्सऐप का इस्तेमाल नहीं करने को कहा है। फोनपे के को-फाउंडर समीर निगम के मुताबिक उनकी टीम के आधे सदस्य सिग्नल पर जा चुके हैं। दुनियाभर में व्हाट्सऐप डाउनलोड की संख्या घटी है। 23 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच इसे 34 लाख बार डाउनलोड किया गया जबकि 1 से 9 जनवरी के बीच यह 30 लाख बार डाउनलोड हुआ जो सितंबर 2020 के बाद सबसे कम डाउनलोड है।

Recent Posts

%d bloggers like this: