अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

शहरी क्षेत्रों में औसतन 21 और ग्रामीण क्षेत्रों में 19 घंटे बिजली आपूर्ति का दावा


सितंबर 20 से अगस्त 21 के बीच 5895.67 करोड़ की खरीद के एवज में 4964.48करोड़ की वसूली
रांची:- झारखंड सरकार की ओर से दावा किया गया है कि राज्य में बिजली वितरण निगम लिमिटेड द्वारा शहरी क्षेत्रों में रोजाना औसतन 21 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में औसतन 19 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है।
ऊर्जा विभाग की ओर से बताया गया है कि पिछले एक साल के दौरान करीब 500 करोड़ रुपये के औसत विद्युत क्रय के विरूद्ध लगभग 400 से 550 करोड़ रुपये की वसूली हुई है। झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड में विद्युत आपूर्ति बनायेरखने और बिजली बिल वसूलने के लिए मुख्यालय के अलावा राज्य के विभिन्न क्षेत्रीय कार्यालय है, जिसके बाद 342 प्रशाखा कार्यालय, 120 सब डिवीजन कार्यालय, 44 डिवीजन कार्यालय, 15 सर्किल कार्यालय और 7 एरिया बोर्ड कार्यालय शामिल है। इन कार्यालयों के पदाधिकारी, अभियंताओं के अलावा विभिन्न श्रेणी के मजदूर, लाइनमैन, बिजली मिस्त्री, नियमित कर्मचारियों की कुल संख्या 2200 के अलावा आउटसोर्स एजेंसी के माध्यम से भी बिजली आपूर्ति बनाये रखने तथा बिजली बिल वसूलने के लिए कर्मचारी कार्यरत है। इन सभी पदाधिकारियोंद्व अभियंताओं, कर्मचारियों के कार्यार् पर विभागवार नियंत्रण, संचालन और मूल्यांकन करने की जवाबदेही झारखंड बिजली वितरण निगम लि. मुख्यालय के महाप्रबंधक स्तर के पदाधिकारी का है।
ऊर्जा विभाग की ओर से यह भी जानकारी दी गयी है कि सितंबर 2021 से अगस्त 2021 के बीच बिजली वितरण निगम को बिजली क्रय के लिए 5895.67 करोड़ खर्च करना पड़ा, जिसके एवज में 4964.48करोड़ रुपये की वसूली हुई। कई महीने में तो बिजली निगम ने खर्च से अधिक राशि की वसूली की, लेकिन कोरोना संक्रमण काल में राजस्व की वसूली में थोड़ी कमी आयी।

%d bloggers like this: