अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

प्रथम शिव शिष्य साहब श्री हरीन्द्रानंद जी और दीदी नीलम आनंद की वैवाहिक वर्षगांठ सभी शिव शिष्यों ने अपने घर पर ही मनाया

किशनगंज:- कालखंड के प्रथम शिव शिष्य श्री हरीन्द्रानंद साहब और दीदी नीलम आनंद की वैवाहिक वर्षगांठ बड़े धूमधाम से सभी शिव शिष्यों ने अपने घर पर ही मनाया। सन 1972 के 22 मई को ये दोनों परिणय सूत्र में बंधे थे। प्रेम का आदर्श बनते हुए अध्यात्म और समाज को एक नई दिशा प्रदान किया जहां भगवान शिव शिष्यता का अविरल प्रवाह चल पड़ा। 22 मई का दिन शिव शिष्यों के लिए विशेष होता है। ममतामयी दीदी नीलम शरीर में अब नहीं हैं फिर भी उनकी उपस्थिति पल प्रतिपल हमारे जीवन में रहती है। साहब और दीदी के स्नेहिल छांव में शिव शिष्यता की बगिया खिली हुई है।

%d bloggers like this: