अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मुख्यमंत्री के नाम हस्ताक्षरयुक्त स्मरण पत्र लेकर रांची पहुंचेंगे आजसू कार्यकर्ता


पिछड़े वंचित को हक अधिकार देने में वादाखिलाफी को लेकर सरकार को जगाने का अभियान
रांची:- पिछड़े वंचित को उनका हक और अधिकार देने में लगातार वादाखिलाफी कर रही सरकार का ध्यान खींचने के लिए हस्ताक्षरयुक्त स्मरण पत्र लेकर आजसू पार्टी के कार्यकर्ता समर्थक सोमवार छह सितंबर को रांची पहुंचेंगे. यहां मोराबादी मैदान स्थित बापू वाटिका में एक जुट होकर मुख्यमंत्री सचिवालय कूच करेंगे. इस दौरान गोमिया के विधायक डॉ लंबोदर महतो और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता देवशरण भगत मौजूद रहेंगे.
यह अभियान आठ सितंबर तक चलेगा. तीनों दिन आठ-आठ जिलों के नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों की टोली मोराबादी स्थित बापू वाटिका से मुख्यमंत्री सचिवालय जाएगी और स्मरण पत्र सौंपेगी.
6 सितंबर को बोकारो, धनबाद, हजारीबाग, गिरिडीह, चतरा, पलामू, लातेहार तथा गढ़वा के कार्यकर्ता समर्थक रांची आएंगे.
7 सितंबर को रामगढ़, गोड्डा, कोडरमा, देवघर, दुमका, जामताड़ा, साहिबगंज, पाकुड़ से कार्यकर्ता रांची पहुंचेंगे.
8 सितंबर को राँची, खूंटी, लोहरदगा, गुमला, सिमडेगा, पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम तथा सरायकेला-खरसावां जिले के कार्यकर्ता इस अभियान में शामिल होंगे
ज्ञात हो कि आजसू पार्टी ने 8 अगस्त-शहीद निर्मल महतो के बलिदान दिवस से पूरे राज्य में सामाजिक न्याय मार्च की शुरुआत की थी। यह कार्यक्रम झारखण्ड के सभी 260 प्रखण्डों में सात दिनों तक चला था। कार्यक्रम के जरिये राज्य के पिछड़ों को लामबंद करते हुए मुख्यमंत्री के नाम प्रेषित स्मरण पत्र पर हस्ताक्षर लिया गया है. ये हस्ताक्षर पत्र सरकार के नाम वे दस्तावेज हैं, जिनसे वह वाकिफ हो सके कि गांव-गांव में लोग जनादेश का हिसाब चाहते हैं.
आजसू पार्टी का कहना है कि झारखंड के पिछड़े अब भी अपने वाजिब हक-हुक़ूक़ से वंचित हैं। सामाजिक न्याय आजसू पार्टी का नारा नहीं बल्कि विचारधारा है और जबतक पिछड़ों को उनका हक, अधिकार और सम्मान नहीं मिलता, तबतक आजसू पार्टी का संघर्ष जारी रहेगा।

%d bloggers like this: