अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आजसू ओबीसी आरक्षण, स्थानीय नीति, शिक्षा एवं रोज़गार के मुद्दे पर मुखर होगी : सुदेश

रांची:- ऑल झारखण्ड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो ने पार्टी कार्यकर्ताओं को जनता की आवाज बनने का आह्वान करते हुए सोमवार को कहा कि जनता के हक और अधिकार की लड़ाई का नेतृत्व करना ही विपक्ष का मूल कर्तव्य है।
श्री महतो ने सोमवार को यहां पार्टी केंद्रीय कार्यालय में सभी जिला प्रभारियों एवं जिलाध्यक्षों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि आनेवाली चुनौतियों का सामना करने के लिए संघर्षशील, गतिशील एवं चिंतनशील होना होगा। सत्ता और संघर्ष ही हमारी पहचान है। उन्होंने कहा, “ हमें जनता की आवाज़ बनना होगा। जनता के हक और अधिकार की लड़ाई का नेतृत्व करना ही विपक्ष का मूल कर्तव्य है। आजसू पार्टी ओबीसी आरक्षण, स्थानीय नीति, शिक्षा, रोज़गार, और राज्य के संसाधन के दोहन के खिलाफ मुखर होगी।”
बैठक में प्रखंड स्तर तक पार्टी संगठन के पुर्नगठन एवं विस्तार, सदस्यता अभियान पुनरारंभ, वर्तमान सरकार के कामकाज की समीक्षा, पार्टी के भावी कार्यक्रमों पर चर्चा, पंचायत एवं नगर इकाई चुनाव के लिए पार्टी की तैयारी, कोरोना संक्रमण और उससे उपजी समस्याओं पर मंथन एवं कोरोना से मरनेवालों के परिवारों को न्याय दिलाने के लिए आंदोलन की रुपरेखा करने तथा टीकाकरण जागरूकता अभियान को लेकर विस्तृत चर्चा की गयी।
बैठक में निर्णय लिया गया कि 15 जुलाई तक राज्य के सभी प्रखंड में प्रखंड समिति का पुनर्गठन एवं विस्तार कर लिया जाएगा एवं प्रखंड स्तर पर सम्मेलन का आयोजन भी किया जाएगा। इस दौरान यह भी निर्णय लिया गया कि आजसू पार्टी आठ अगस्त यानी झारखंड के वीर शहीद निर्मल महतो के शहादत दिवस पर हर प्रखंड में सामाजिक न्याय मार्च की शुरुआत करेगी और क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन सौंपेगी। इसके अलावा कई अन्य महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।
इस बैठक में श्री महतो के अलावा गिरिडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी, पूर्व मंत्री रामचंद्र सहिस, विधायक सह पार्टी के महासचिव लम्बोदर महतो, पार्टी के उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री उमाकांत रजक, पार्टी की संगठन सचिव शालिनी गुप्ता के अलावा कई अन्य नेता समेत सभी जिला प्रभारी एवं जिलाध्यक्ष शामिल थे।

%d bloggers like this: