अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आजसू ने जेपीएससी मुद्दे पर आंदोलन को किया तेज


रांची:- सातवीं-दसवीं जेपीएससी पीटी परीक्षा रद्द कराने की मांग को लेकर अखिल झारखण्ड छात्र संघ (आजसू) ने आंदोलन को तेज कर दिया है। आज राज्य के सभी 260 प्रखंडों में राज्यपाल के नाम प्रेषित मांग-पत्र को प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के माध्यम से महामहिम तक पहुँचायी गयी।
आजसू प्रदेश अध्यक्ष गौतम सिंह ने कहा कि एक ओर विधानसभा में मुख्यमंत्री जी जेपीएससी पीटी परीक्षा परिणाम को क्लीन चीट देते हैं और दूसरी ओर रात को 12बजे चुपके से आंदोलनरत अभ्यर्थियों को मोरहाबादी से ओरमांझी शिफ्ट कर देते। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर परीक्षा परिणाम में कोई त्रुटि नहीं है, तो अभ्यर्थियों के वाजिब सवाल का जवाब देने के लिए अबतक कोई मंत्री या खुद मुख्यमंत्री जी सामने क्यों नहीं आये? अच्छा होता कि सदन में गोलमटोल बातें करने के बजाए मुख्यमंत्री जी आंदोलनरत अभ्यर्थियों के बिंदुवार सवालों का बिंदुवार जवाब देते। अखिल झारखण्ड छात्र संघ (आजसू) के नेता, कार्यकर्ता एवं समर्थक छात्रों की मांग एवं इस आंदोलन को हर हाल में मुकाम तक ले जाएंगे।
साथ ही उन्होंने जेपीएससी अभ्यर्थी न्याय वीडियो कैंपेन की जानकारी देते हुए कहा कि कल पूरे राज्य में प्रारंभ किये गए इस कैंपेन को जोरदार समर्थन मिल रहा है। राज्य के हर कोने से लोगों ने जेपीएससी मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।
जेपीएससी द्वारा 19 सितंबर को “झारखण्ड संयुक्त असैनिक सेवा प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा-2021“ का आयोजन किया गया, जिसका परिणाम दिनांक 1नवंबर,2021 को जारी किया गया। प्रारंभिक परीक्षा परिणाम में कई ऐसी त्रुटियां हैं, जिसने जेपीएससी को कटघरे में खड़ा कर दिया है।
निश्चित रुप से जेपीएससी पीटी परीक्षा का परिणाम संदेह के घेरे में आता है। अतः इसे रद्द करने के साथ-साथ इस पूरे घटनाक्रम की उच्चस्तरीय जांच सुनिश्चित होनी चाहिए।

%d bloggers like this: